बिलासपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। न्यायधानी में शुक्रवार की शाम हल्की वर्षा के बाद मौसम का मिजाज बदला हुआ था। अचानक सूर्य के दर्शन हुए। ठंडी हवाएं चली। आसमान से काली घटाएं इधर-उधर जाने लगी। भू अभिलेख शाखा के मुताबिक 13.8 मिलीमीटर वर्षा हुई। मौसम विभाग की मानें तो 24 सितंबर को आसमान में बादल आते-जाते रहेंगे। हल्की वर्षा की संभावना बनी रहेगी।

मौसम वेधशाला के विज्ञानी डा. एचपी चंद्रा के मुताबिक एक ऊपरी हवा का चक्रीय चक्रवाती घेरा उत्तर-पश्चिम मध्य प्रदेश और उसके आसपास स्थित है और 5.8 किलोमीटर ऊंचाई तक विस्तारित है। एक द्रोणिका उत्तर-पश्चिम बंगाल की खाड़ी से उत्तर-पश्चिम मध्य प्रदेश तक छत्तीसगढ़ होते हुए 1.5 किलोमीटर से 4.5 किलोमीटर ऊंचाई तक स्थित है।

प्रदेश में 24 सितंबर को कुछ स्थानों पर हल्की से मध्यम वर्षा होने या गरज चमक के साथ छींटे पड़ने की संभावना है। इधर बिलासपुर संभाग के एक-दो स्थानों पर गरज चमक के साथ वज्रपात होने की संभावना है। जिले के सभी तहसीलों में लगभग हर दिन वर्षा दर्ज की जा रही है। शुक्रवार को भी सीपत में सबसे अधिक 30.6 मिलीमीटर वर्षा हुई। वहीं बिलासपुर शहर में 13.8 व कोटा में 12.6 मिलीमीटर पानी गिरा। बेलगहना, बिल्हा, मस्तूरी, तखतपुर, बोदरी और रतनपुर में कम वर्षा हुई।

जिले में औसत से अधिक वर्षा

बिलासपुर जिले में एक जून से अब तक 12,536.3 मिलीमीटर वर्षा हो चुकी है। यह विगत 10 वर्षों के बीच हुई औसत वर्षा से अधिक है। वहीं बिलासपुर शहर में अब तक 1,614 मिलीमीटर पानी गिर चुका है। जिले में देखा जाए तो रतनपुर तहसील में सबसे कम वर्षा 1081.7 मिलीमीटर दर्ज की जा चुकी है।

एक सप्ताह की भविष्यवाणी

मौसम विशेषज्ञ सिराज खान की मानें तो मानसून की विदाई इस महीने होने की संभावना कम है। पांच से 10 अक्टूबर संभावित तिथि है। 24 सितंबर को नगण्य वर्षा की संभावना है। 25 से 28 सितंबर तक बिल्कुल हल्की वर्षा का अनुमान है। एक अक्टूबर को हल्की से मध्यम वर्षा हो सकती है। जबकि दो अक्टूबर को लगभग यही स्थिति बने रह सकती है। 25 सितंबर से उत्तरी हवाएं चलेंगी।

Posted By: Yogeshwar Sharma

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close