बिलासपुर। विश्व आदिवासी दिवस के दिन भाजपा ने छत्तीसगढ़ में अपना प्रदेश अध्यक्ष बदल दिया। आदिवासी वर्ग के विष्णुदेव साय को हटाकर ओबीसी वर्ग से आने वाले अरुण साव को कमान सौंप दी। इस पर कांग्रेस के बायनों पर पलटवार करते हुए पूर्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल ने कहा कि जब भाजपा ने आदिवासी राष्ट्रपति बनाने द्रौपदी मुर्मु को प्रत्याशी बनाया था तो कांग्रेस का आदिवासी प्रेम कहां था। उस वक्त तो कांग्रेस को आदिवासी समाज की चिंता नहीं हुई। अब प्रदेश अध्यक्ष के बदलने पर वे सवाल जवाब कर रही है। कांग्रेस राजनीति कर रही है।

पूर्व मंत्री अग्रवाल भाजपा कार्यालय में पत्रकारों से चर्चा कर रहे थे। उन्हाेंने कहा कि कांग्रेसियों का आदिवासी प्रेम केवल दिखावा व छलावा है। पूर्व मंत्री बृजमोहन ने कहा कि देश की आजादी के 75 साल पूरे हो रहे हैं। पूरा देश अमृत महोत्सव मना रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देशवासिसयों से अपील की है कि आजादी के अमृत महोत्सव पर हर घर में तिरंगा झंडा फहराया जाए । उनके इस अभियान को सफल बनाने के साथ ही देश के स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों और बलिदानियों को याद करने भाजपा की ओर से लोगों को जागरूक करने के निर्देश दिए हैं। प्रदेश के 25 लाख घरों में झंडा फहराने का निर्णय लिया गया है । हर गरीब वर्ग के लोगों तक तिरंगा पहुंचाने और उन्हें स्वतंत्रता दिवस के संबंध में जानकारी देने के लिए अभियान चलाया जा रहा है। तिरंगा यात्रा राष्ट्र प्रेम का काम है इसलिए इसमें सबकी सहभागिता जरूरी है।

नेता प्रतिपक्ष बनाना तो सब की इच्छा

पूर्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल से भाजपा प्रदेश अध्यक्ष के बाद विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष के बदलाव और उनके नाम की चर्चा के बारे में पूछे गए सवाल का उन्हाेंने जवाब देते हुए कहा कि पार्टी में शीर्ष पद मिलने की इच्छा तो सभी की होती है।

Posted By: Abrak Akrosh

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close