बिलासपुर(नईदुनिया प्रतिनिधि)।Wild Life News Bilaspur: कोटा-बेलगहना मार्ग पर तेंदुआ दिखने से ग्रामीणों में दहशत का माहौल है। दो-तीन दिनों से तेंदुआ आसपास भी घूम रहा है। जिसे राहगीर के अलावा ग्रामीणों ने भी देखा है। इसकी सूचना मिलते ही वन विभाग ने वनकर्मियों को तैनात कर दिया। साथ ही सतर्क रहने के लिए पंचायत के माध्यम से मुनादी भी कराई जा रही है।

यह क्षेत्र अचानकमार टाइगर रिजर्व से सटा हुआ है। ऐसे में माना जा रहा है कि तेंदुआ टाइगर रिजर्व का ही है। लेकिन जंगल से बाहर निकलकर मार्ग के आसपास मंडराना खतरा है। हालांकि अभी तक किसी तरह की जानहानि नहीं हुई है। हालांकि इससे खतरा बना हुआ है। शनिवार की शाम को तेंदुआ डेम से होते हुआ कुंवारीमुड़ा गांव की ओर घुस गया।

तेंदुए को गांव के सरपंच भगवान सिंह और कुछ ग्रामीणों ने देखा। ग्रामीणों ने तेंदुआ को दोबारा कोटा बेलगहना रोड में फौजी ढाबा के पास देखा। तेंदुआ नजर आने की सूचना आग की तरह फैल गई। इससे आसपास के ग्रामीण दहशत में आ गए। इसकी जानकारी ग्रामीणों ने तत्काल अचानकमार टाइगर रिजर्व के डिप्टी डायरेक्टर सत्यदेव शर्मा और बिलासपुर वन मंडल के डीएफओ कुमार निशांत को दी।

सूचना मिलते ही एटीआर और बिलासपुर वन मंडल के कर्मचारियों को रात में सतर्क रहने का आदेश दिया गया। वहीं विभाग के साथ पंचायत ने एहतियात के तौर पर मुनादी करा रही है, ताकि शाम ढलने के बाद ग्रामीण घर से बाहर न निकलें। राहगीरों को भी समझाइश दी जा रही है।

इन्होंने कहा

स्टाफ द्वारा तेंदुआ नजर आने की सूचना दी गई। इस पर तत्काल दो से तीन वनकर्मियों की ड्यूटी लगा दी गई। इसके अलावा पंचायत को भी सूचना देकर मुनादी कराई जा रही है, ताकि लोग सतर्क रहें।

कुमार निशांत

डीएफओ, बिलासपुर वनमंडल

Posted By: anil.kurrey

NaiDunia Local
NaiDunia Local