बिलासपुर। नईदुनिया न्यूज

दो अगस्त को हरेली पर्व के साथ त्योहारों का दौर शुरू हो रहा है। इसमें पुष्य नक्षत्र का संयोग इसे खास बना रहा है। इसके बाद पूरे महीने विभिन्न पर्वों की धूम रहेगी।

हिंदू पंचांग के मुताबिक वर्ष के अंतिम माह फाल्गुन में होली पर्व के बाद नववर्ष की शुरुआत चैत्र माह से होती है। वहीं पर्वों की शुरुआत के लिए सावन माह तक का इंतजार करना पड़ता है। यह इंतजार 2 अगस्त को पड़ रहे हरेली पर्व के साथ खत्म होने जा रहा है। पं. दीपक शर्मा ने बताया कि इस पर्व के साथ ही इस दिन पुष्य नक्षत्र का संयोग भी बन रहा है। इस लोक पर्व हरेली के साथ ही अब सभी ओर तीज-त्योहारों का दौर शुरू हो जाएगा। उन्होंने बताया कि पुष्य नक्षत्र के योग से पर्व की शुरुआत शुभ संकेत दे रही है। इसके बाद पूरे अगस्त माह में विभिन्न पर्व भी बेहद खास हैं। इसमें नागपंचमी, सावन सोमवार, रक्षाबंधन, हल षष्ठी सहित अन्य पर्व पड़ेंगे।

औजारों की होगी पूजा

लोक पर्व हरेली (हरियाली अमावश्या) में किसान अपने कृषि के औजारों की पूजा करेंगे। इसके साथ ही लोग गेड़ी समेत अन्य पारंपरिक खेलों का आनंद लेंगे। इस मौके पर घरो में पारंपरिक व्यंजन बनने का सिलसिला भी शुरू हो जाएगा।

शिवभक्ति की जगेगी अलख

सावन का तीसरा सोमवार 8 अगस्त को है। शिव भक्ति के लिए सावन के सोमवार का विशेष महत्व है। इस वजह से सावन सोमवार में शिवालयों में शिव भक्तों की भीड़ रहेगी। चौथा व अंतिम सोमवार 15 अगस्त को रहेगा।

नागदेव का होगा पूजन

नागपंचमी पर्व 7 अगस्त को मनाया जाएगा। लोग इस दिन शिव उपासना के साथ ही नागदेव का पूजन कर आशीष लेंगे। इस लोक पर्व पर लोग नाग देव को दूध व लाई अर्पित करेंगे। इसके साथ ही अखाड़ों में कुश्ती प्रतियोगिता होगी।

संतान के लिए माताएं रखेंगी व्रत

अगस्त माह में ही 14 को पुत्रता एकादशी का पर्व मनाया जाएगा। माताएं अपनी संतान की लंबी उम्र की कामना के लिए व्रत रखेंगी। इसके साथ ही विधि-विधान से पूजन और हवन होंगे।

भाई-बहन के स्नेह का मनेगा पर्व

भाई-बहन के स्नेह का पावन पर्व रक्षाबंधन 18 अगस्त को मनाया जाएगा। इस दिन बहनें अपने भाई की लंबी उम्र की कामना करते हुए उनकी सुरक्षा के लिए रक्षासूत्र बांधेंगी। बदले में भाई से उपहार भी मिलेंगे।

हल षष्ठी का रहेगा उत्साह

हल षष्ठी पर्व का उत्साह 23 अगस्त को रहेगा। माताएं अपनी संतान की लंबी उम्र के लिए व्रत रखेंगी। इसके साथ ही पसहर चावल और बिना हल लगे अन्न के सेवन के साथ ही व्रत का परायण करेंगी।

मनेगा कृष्ण का जन्मोत्सव

कृष्ण जन्मोत्सव की धूम 25 अगस्त को रहेगी। मंदिरों में विशेष पूजन के साथ ही देर रात्रि कृष्ण जन्म मनाया जाएगा। इसके साथ ही गली-गली बाल-गोपालों की टोलियां मटकी फोड़ प्रतियोगिता में शामिल होंगी।

होगा गौ पूजन

अगस्त महीने में ही 29 को गौवत्स द्वादशी मनाई जाएगी। इस मौेके पर गौ पूजन के साथ ही गौ सेवा का पर्व मनाया जाएगा।

Posted By:

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020