बिलासपुर। गर्भवती महिला ने एंबुलेंस 102 वाहन में बच्चा को जन्म दिया है। 102 के स्टाफ ने सुरक्षित प्रसव कराया है। इसके बाद मां और बच्चा को अस्पताल में भर्ती कराया। डाक्टरों ने मां व बच्चा का तत्काल इलाज शुरू किया। डाक्टरों का कहना है कि समय पर इलाज शुरू होने के बाद मां व बच्चा स्वस्थ हैं। कुछ दिनों बाद अस्पताल से छुट्टी दे दी जाएगी।

विकासखंड कोटा क्षेत्र के ग्राम मरहीकांपा के रहने वाली सुनीता साहू बीते गुस्र्वार को घर पर काम कर रही थी। इसी दौरान अचानक प्रसव पीड़ा शुरू हो गया। उन्होंने अपने स्वजन को जानकारी दी। धीरे-धीरे प्रसव पीड़ा बढ़ने लगा। इसके बाद स्वजन ने आनन फानन में 102 एंबुलेंस को फोन कर मदद मांगी। इसके बाद 102 के स्टाफ तत्काल घटना स्थल पहुंचे।

सुनीता और उसके स्वजन व मितानीन को वाहन में बैठाकर कोटा के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में भर्ती कराया गया। वहां के डाक्टर ने महिला को सिम्स रेफर कर दिया। 102 वाहन से महिला को सिम्स बिलासपुर के लिए रवाना हुए। सिम्स पहुंचने से पहले रास्ते में ही प्रसव शुरू हो गया। ईएमटी ने महिला का सुरक्षित प्रसव कराया। महिला ने पुत्र को जन्म दिया। एंबुलेंस में बिना किसी परेशानी के किलकारी गूंजी तो स्वजन के मन में खुशी छा गई। इसके बाद 102 के स्टाफ सिम्स नहीं गए। प्रसव होने के बाद वापस कोटा स्वास्थ केंद्र लौट गए।

ईएमटी ने जधाा-बधाा को सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र कोटा में भर्ती कराया है। इसके बाद डाक्टरों की टीम ने तत्काल इलाज शुरू कर दी। फिलहाल दोनों की हालत सामान्य बताई जा रही है। अभी 24 घंटे डाक्टरों की निगरानी में इलाज चल रहा है। सुनीता के स्वजन ने मदद करने वाले 102 के स्टाफ की प्रसंशा करते हुए धन्यवाद कहा। स्वास्थ्य विभाग के अफसरों का कहना है कि 102 वाहन में प्रशिक्षित स्टाफ काम कर रहे हैं। इसलिए घबराने की अवश्यकता नहीं है।

Posted By: anil.kurrey

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close