बिलासपुर। नईदुनिया प्रतिनिधि

21 जून को विश्व योग दिवस है। न्यायधानी में इसे लेकर जबदरस्त तैयारी चल रही है। उच्च शिक्षण संस्थानों में इसका जबरदस्त क्रेज दिखने को मिल रहा है। गुरु घासीदास केंद्रीय विश्वविद्यालय में पहली बार योग पर रिफ्रेशर कोर्स कराया जा रहा है। पंडित सुंदरलाल शर्मा मुक्त विवि में ब्रम्हर्षि वशिष्ठ योग आरोग्य केंद्र स्थापित किया गया है। युवाओं की टोली गांव में चौपाल लगाकर योग से निरोग रहने जागरूक कर रहे हैं।

21 जून 2015 को पहली बार अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर योग दिवस मनाया गया। वर्तमान में देशभर में जहां पांचवे विश्व योग दिवस की धूमधाम से तैयारी चल रही है,तो वहीं न्यायधानी भी इससे अछूता नहीं है। स्कूल व उच्च शिक्षण संस्थानों में योग दिवस पर कई कार्यक्रम आयोजित हैं। योग प्रशिक्षण से लेकर बच्चों व युवाओं के बीच स्पर्धाएं भी होगी। शिक्षक से लेकर कर्मचारी और बड़े अधिकारी तक रोजाना पसीना बहा रहे हैं। समाज में लोगों को जागरूक करने कई अलग अलग पहल भी की गई है।

रिफ्रेशर कोर्स में देशभर से 31 प्रतिभागी

गुरु घासीदास केंद्रीय विश्वविद्यालय में कुलपति प्रो.अंजिला गुप्ता के सीधे निर्देशन में योग दिवस की तैयारी चल रही है। यह अंतिम चरण में है। 21 जून को नवीन कैफेटेरिया भवन में सुबह 7 बजे योग दिवस पर कार्यक्रम होगा। खासबात यह कि यहां यौगिक साइंस पर सर्टिफिकेट कोर्स संचालित है। हेल्थ, फिटनेस, वेलनेस एवं फर्स्ट एड विषय पर 12 दिवसीय रिफ्रेशर कोर्स चल रहा है। देश के अलग अलग राज्यों से 31 प्रतिभागी इसमें शामिल हुए हैं। ख्यातिप्राप्त विद्वानों का व्याख्यान चल रहा है। 22 जून को समाप्त होगा।

---

चौपाल लगाकर स्वस्थ्य भारत की शपथ

योग दिवस को खास तौर पर मनाने के लिए युवाओं की टोली निकल पड़ी है। इसमें कॉलेज-यूनिवर्सिटी के छात्र छात्राएं, पूर्व छात्र एवं नेहरू युवा केंद्र के स्वंय सेवक शामिल है। गांव-गांव जाकर चौपाल लगा रहे हैं। मंगलवार को योगाचार्य सुरेंद्र पाण्डेय ने जल का महत्व योग के रूप मे बता रहे हैं। खाने से पहले व बाद में एक घंटे तक पानी नहीं पीना चाहिए। स्वयं सेवक नितेश साहू ने घर-घर जाकर अलख जगा रहे हैं। ग्रामीणों को योग के माध्यम से स्वस्थ्य भारत की परिकल्पना कर शपथ दिला रहे हैं। 21 जून तक पांच हजार का टारगेट है।

ब्रम्हर्षि वशिष्ठ योग आरोग्य केंद्र स्थापित

पंडित सुंदरलाल शर्मा मुक्त विश्वविद्यालय की पहचान पर योग बन चुका है। मई 2018 से ब्रम्हर्षि वशिष्ठ योग आरोग्य केंद्र की स्थापना की गई है। विश्वविद्यालय के योग विज्ञान विभाग द्वारा आरोग्य-केंइ्र का सतत संचालन किया जा रहा है। प्रतिदिन सुबह 7 से 10 बजे तक प्रशिक्षित योग शिक्षकों द्वारा अभ्यास कराया जाता है। इसके अलावा यहां योग पर डिप्लोमा कोर्स संचालित है। कुलपति डॉ.बंश गोपाल सिंह के निर्देशन में योगासन, प्राणायाम, बंध, मुद्रा, ध्यान एवं अन्य यौगिक क्रियाओं को लेकर सतत जागरूकता कार्यक्रम चल रहा है।

Posted By: Nai Dunia News Network