बिलासपुर। मंगलवार की शाम मिनी बस्ती जतिया तालाब के पास रहने वाले आटो चालक ने जमीन विवाद में अपने बड़े भाई और भाभी की हत्या कर दी। इसके बाद वह मारपीट की शिकायत लेकर थाने पहुंच गया। इस बीच पुलिस को हत्या की जानकारी मिल गई। पुलिस ने आरोपित को हिरासत में ले लिया। वहीं, मौके पर पहुंचकर घायलों को अस्पताल पहुंचाया। पुलिस ने महिला और उसके पति के शव को कब्जे में लेकर चीरघर भेज दिया है। मामले में दो नाबालिग समेत चार लोगों को हिरासत में ले लिया गया है। उसने घटना के संबंध में पूछताछ की जा रही है।

जरहाभाठा मिनी बस्ती जतिया तालाब के पास रहने वाले ओमप्रकाश गढ़ेवाल(40) आटो चलाते हैं। उनकी सात एकड़ पैतृक जमीन सकरी क्षेत्र के सैदा और पांड़ गांव में है। जमीन के बंटवारे को लेकर भाइयों के बीच विवाद चल रहा था। मंगलवार की सुबह ओमप्रकाश के बड़े भाई दीपक गढ़ेवाल(42) कुछ लोगों को लेकर सैदा गया था। वहां पर वह जमीन को दिखाकर सौदा करने की फिराक में था। इसकी जानकारी होने पर ओमप्रकाश भी मौके पर पहुंच गया। वहां दोनों के बीच विवाद हो गया। इस दौरान हुई मारपीट के बाद दीपक और ओमप्रकाश सकरी थाने आए।

ओमप्रकाश बिना शिकायत किए ही घर लौट गया। शाम पांच बजे दीपक ने घर आकर ओमप्रकाश के आटो में तोड़फोड़ शुरू कर दी। इसका विरोध करने पर उसने ओमप्रकाश पर कुल्हाड़ी से हमला कर दिया। मारपीट के दौरान ओमप्रकाश ने दीपक पर राड से हमला कर दिया। इससे वह मौके पर ही गिर गया। इसके बाद उसने कुल्हाड़ी छीनकर दीपक पर ताबड़तोड़ हमला कर दिया। इस दौरान दीपक की पत्नी पुष्पा और बेटियां हर्षिता व रोशनी बीच-बचाव के लिए आईं। ओमप्रकाश ने पुष्पा पर भी कुल्हाड़ी से हमला कर दिया। हमले में हर्षिता और रोशनी भी घायल हो गई। इससे दीपक और पुष्पा की मौके पर ही मौत हो गई।

इधर हमले के बाद ओमप्रकाश मारपीट की शिकायत लेकर थाने पहुंच गया। मोहल्ले वालों ने घटना की जानकारी सिविल लाइन पुलिस को दी। इस पर पुलिस ने थाने में ही ओमप्रकाश को हिरासत में ले लिया। इसके बाद पुलिस ने मौके पर पहुंचकर शव चीरघर भेज दिया। वहीं, घायलों को उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है। मामले में पुलिस नेे ओमप्रकाश और उसकी पत्नी संगीता गढ़ेवाल व दो नाबालिग बेटियों को हिरासत में लिया है। उनसे घटना के संबंध में पूछताछ की जा रही है।

Posted By: Abrak Akrosh

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close