कोंडागांव। भाजपा प्रदेश उपाध्यक्ष लता उसेंडी ने छत्तीसगढ़ में मानव तस्करी के बढ़ते प्रकरणों पर चिंता व्यक्त करते हुए राज्य की कांग्रेस सरकार को इसके लिए जिम्मेदार बताया है। इस संबंध में प्रेसवार्ता के उपरांत जिलाध्यक्ष दीपेश अरोरा के नेतृत्व में स्थानीय बस स्टैंड में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, पीसीसी चीफ मोहन मरकाम और केशकाल विधायक संतराम नेताम का पुतला दहन कर बंधुआ मजदूरी, बाल श्रम और मानव तस्करी के विरुद्ध आवाज बुलंद किया। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार कार्रवाई के नाम पर केवल खानापूर्ति कर रही है।

छत्तीसगढ़ सरकार को चाहिए कि तत्काल इस संवेदनशील मामले को गंभीरता से लेते हुए ठोस कार्रवाई कर प्रदेश को मानव तस्करी से मुक्त करें। तस्करी के शिकार, भूले-भटके या किसी के बहकावे में फंसकर असुरक्षित पलायन कर चुके बच्चे, युवतियों को मुक्त कराने का काम अभियान के रूप में किया जाए। इस मुद्दे पर शीघ्र जांच व कार्रवाई नहीं होने पर भारतीय जनता पार्टी आंदोलन करने को लेकर बाध्य होगी। उसेंडी ने बताया कि गांव-गांव व दूरस्थ अंचलों में प्रदेश सरकार की किसी भी योजना का लाभ हितग्राहियों को प्राप्त नहीं हो पा रहा है, जिसका दुष्परिणाम मानव तस्करी एवं पलायन के रूप में हमारे सामने है। कानून व्यवस्था की बदतर व कमजोर सूचना तंत्र के कारण प्रदेश में खुलेआम मानव तस्करी, अपहरण, बलात्कार इत्यादि की घटनाएं चरम पर है। राजधानी सहित आदिवासी जिलों के गांव-गांव में बकायदा मानव तस्करी के संगठित गिरोह सक्रिय हैं। प्लेसमेंट सर्विस का दफ्तर खोलकर नौकरी दिलाने के नाम पर इन क्षेत्रों में युवतियों-महिलाओं को दूसरे राज्य में बेचा जा रहा है।

ग्राम पावड़ा की दर्जन भर युवतियां घर से बिना बताए तमिलनाडू जा चुकी है। वहीं रायपुर मे निश्शुल्क नर्स ट्रेनिंग के नाम पर कोनगुड़ की युवती से पैसे जमा करवाने को कहा गया एवं उसके मूल दस्तावेज जमा करवा लिए गए जो उसे वापस नहीं दिया जा रहा है। इस संबंध मे अधिकारियों की एक एस आई टी टीम गठित कर जांच व दोषियों पर कार्रवाई की जानी चाहिए। इस दौरान लता उसेंडी, दीपेश अरोरा, अनिता नेताम, प्रवीर बंदेशा, हेमचंद देवांगन, हरिशंकर नेताम, निर्मल नाग, परमेश्वर सेठिया, अजय मरावी, ओम प्रकाश टावरी, हेमकुंवर पटेल, जसकेतू उसेंडी, संतोष पात्र, महेंद्र पारख, रौनक दीवान सहित अन्य मौजूद रहे।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local