कोंडागांव। कोंडागांव जिला बने लगभग नौ वर्ष से अधिक हुआ, लेकिन आज तक कार्मिकों को शासकीय भवन नहीं मिल पाया। इसके चलते कर्मचारियों को किराए के भवन में रहना मजबूरी है। अब तक यहां कर्मचारियों के लिए सर्वसुविधायुक्त शासकीय आवास नहीं बनने से इन कर्मचारियों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। एक तो भारी भरकम किराया, ऊपर से किराए की भवन नहीं मिलने के कारण इन कर्मचारियों की परेशानी को और बढ़ा दी और जिन कर्मचारियों को पुराने जर्जर आवास की सुविधा मिल रही है, वह बारिश में परेशानी का सबब बना हुआ है।

गौरतलब है कि फरसगांव नगर में अधिकांश शासकीय कर्मचारी भवन सालों पुराने होने से इनकी हालत बहुत खराब हो चुकी है। इनमें से कई भवन क्षतिग्रस्त अवस्था में पहुंच गए हैं, तो कई भवनों की दीवारों में दरारें देखने को मिल रही हैं।

निर्माणाधीन भवन के सामने नहीं लगा कोई जन सूचना बोर्ड बता दें कि पिछले चार साल से अधिक समय से फरसगांव जनपद कार्यालय के पीछे सर्व सुविधायुक्त अधिकारी-कर्मचारी भवन का निर्माण चल रहा है, लेकिन आज तक पुरा नहीं हो पाया। बड़ी मुश्किल के बाद ये पता चला कि छत्तीसगढ़ गृह निर्माण मंडल संभाग कोंडागांव द्वारा उक्त भवन का निर्माण किया जा रहा है। इतने समय के बाद भी आज तक उक्त निर्माणाधीन भवन के सामने कोई जन सूचना बोर्ड नहीं लगाया गया है।

दो साल में बनने वाला भवन पांच साल में भी नही हो पाया पूरा

गृह निर्माण मंडल कार्यालय कोंडागांव से प्राप्त जानकारी के अनुसार उक्त भवन चार करोड 88 लाख रुपए लागत की है, तथा विनोद कुमार जैन नामक ठेकेदार द्वारा निर्माण करवाया जा रहा है। उक्त भवन का निर्माण प्रारंभ अगस्त 2017 से शुरू हुआ और दो वर्ष के अंदर इसका निर्माण पूरा होना था। लेकिन आज करीब पांच वर्ष के बाद भी भवन अधूरा पड़ा हुआ है। इस भवन पर कोई जिम्मेदार अधिकारी का ध्यान अब तक नहीं गया और न ही ठेकेदार पर उचित कार्रवाई की गई। जिससे ठेकेदार व अधिकारियों की मिलीभगत से भी इनकार नहीं किया जा सकता। उक्त भवन के निर्माण निम्न गुणवत्ता पर भी कई सवाल उठाए जा रहे हैं।

ठेकेदार के पास और भी निर्माण कार्य

उक्त निर्माणाधीन भवन के ठेकेदार के पास और भी निर्माण कार्य है। कांकेर में भवन पूरा करने के बाद फिर फरसगांव का कर्मचारी भवन पूरा करेंगे। निर्माण से पूर्व जर्जर स्थिति के बारे में पूछने पर उन्होंने कहा कि काम अभी चल रहा है, इसलिए ऐसी स्थिति है काम पूरा होने के बाद उसमें सुधार कर दिया जाएगा।

पीएल साहू, ईई हाऊसिंग बोर्ड

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close