कोंडागांव। जिले में चल रहे विभिन्नाा निर्माण कार्यों में संबंधित विभागीय अधिकारियों की उदासीनता व लोकार्पण के पूर्व जनप्रतिनिधियों द्वारा अवलोकन भी न किए जाने के कारण निर्माण एजेंसियां गुणवत्ताहीन निर्माण को अंजाम दे रही हैं। एक ओर सरकार जिम्मेदार विभागीय अधिकारियों को गुणवत्तापूर्ण निर्माण समय-सीमा में पूर्ण करने की नसीहत दे रहे है, वही जिम्मेदार अधिकारियों की अनदेखी के कारण धरातल पर निर्माण कार्यों में गुणवत्ता नदारद है।

परिणाम स्वरुप निर्माण के चंद महीनों बाद ही भवनों में दरारें आना, बारिश में छत से पानी का रिसाव, जगह-जगह टूट-फूट होना आदि आम बात है। नारायणपुर विधानसभा क्षेत्र अंतर्गत आने वाले कोंडागांव जिले के ग्राम केजंग में करीब 262 लाख की लागत से छात्रावास भवन का हाल में निर्माणाधीन है। जहां निर्माण एजेंसी द्वारा निर्माण कार्यों में स्तरहीन निर्माण सामग्रियों का उपयोग कर गुणवत्ता हीन निर्माण कार्यों को अंजाम देने का ग्रामीणों ने दावा किया।

नई दुनिया की टीम ने रविवार को ग्राम केजंग में निर्माणाधीन छात्रावास भवन पहुंचकर देखा भवन की दीवारों में कई जगह दरारें दिखाई दिया। वहीं भवन के सामने हिस्से पर फर्श में लगाया गया ट्राइल्स भी कुछ जगहों पर उखड़ा हुआ था। जिसे हाल में मुख्यमंत्री के नारायणपुर विधानसभा में होने वाले दौरे को ध्यान में रखकर विभागीय अमला लीपापोती में जुटा है।

वही निर्माण एजेंसी यूनिक इंटरप्राइजेस रायपुर से संबंधित तौसिफ खान से मोबाइल नंबर में संपर्क करने पर भवन का निर्माण कार्य पूर्ण होने की बात कहते खुद को निर्माण एजेंसी का कर्मचारी बताया। निर्माणाधीन भवन की गुणवत्ता को लेकर लोक निर्माण विभाग के सब इंजीनियर गुलशन ठाकुर से मोबाइल पर जानकारी लेने पर कहां निर्माण एजेंसी यूनिक इंटरप्राइजेज रायपुर कार्य को आधे अधूरे छोड़ गये, कार्य वर्तमान में विभाग द्वारा पूर्ण कराया जा रहा, वहीं इंजीनियर ने भवन के गुणवत्तापूर्ण निर्माण होने का दावा किया।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close