दंतेवाड़ा। Naxalite Surrender in Dantewada: छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित दंतेवाड़ा जिले में दो इनामी सहित 10 नक्सलियों ने सुरक्षाबलों के सामने आत्मसमर्पण कर दिया है। पुलिस अधिकारियों ने बुधवार को यह जानकारी दी। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि जिले में सुरक्षा बलों के अधिकारियों के सामने 10 नक्सलियों आत्मसमर्पण कर दिया है। आत्‍मसमर्पण करने वाले नक्‍सलियों में दो नक्‍सलियों पर एक-एक लाख का इनाम घोषित था।

समर्पित नक्सलियों को शासन के पुनर्वास नीति के तहत राहत दिया जाएगा। समर्पित नक्सलियों के खिलाफ पुलिस पार्टी पर हमला करना, पुल उड़ाने समेत कई गंभीर आरोप लंबित हैं। समर्पित नक्सलियों में कुमारी देबे इनामी एक लाख, हूंगा उर्फ दुधवा मढ़कामी निलवाया सुकमा, हड़मा बड़ी मढ़कम व अन्‍य शामिल हैं।

छतीसगढ़ के नक्‍सल प्रभावित जिलों में चलाये जा रहे नक्सल उन्मूलन अभियान के तहत जिला दंतेवाड़ा के विभिन्न ग्रामों के व्यक्ति जो प्रतिबंधित नक्सली संगठन में सक्रिय है। उन्हें आत्मसमर्पण कर सम्मान पूर्वक जीवन यापन करने के लिए थाना एवं ग्राम पंचायतों में संबंधित क्षेत्र के सक्रिय नक्‍सलियों के नाम चस्पा कर लोन वर्राट्र (घर वापस आईये) अभियान चलाया जा रहा है।

ये सभी नक्‍सली संगठन के खोखली विचारधारा से तंग आकर लोन वर्राटू (घर वापस आईये अभियान) एवं छत्तीसगढ़ शासन के पुनर्वास योजना से प्रभावित होकर समाज के मुख्यधारा से जुड़कर विकास में सहयोग करने की इच्छा व्यक्त करते हुए डीआईजी कमलोचन कश्यप, डीआईजी सीआरपीएफ विनयकुमार, एसपी दंतेवाड़ा सिदार्थ तिवारी व सीआरपीएफ के समक्ष आत्मसमर्पण किया।

लोन वर्राटू अभियान के तहत् अब तक 149 ईनामी नक्‍सली सहित कुल 591 नक्‍सलियों ने आत्मसमर्पण कर समाज के मुख्यधारा में जुड़ चुके हैं। आत्मसमर्पित सभी नक्‍सली नक्सली बंद सप्ताह के दौरान रोड़ खोदने, पेड़ काटने एवं नक्सली बैनर पोस्टर लगाकर मार्ग अवरोध करने की घटना में शामिल थे।

Posted By: Ashish Kumar Gupta

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close