दंतेवाड़ा। शिक्षा ही शक्ति है और यह समाज के विकास में हमारे योगदान, व्यक्तिगत आर्थिक विकास और सफलता प्राप्त करने का एक सशक्त माध्यम है। एएम/एनएस इंडिया की पहल ज्ञान ज्योति पुरस्कार के तहत बहुत से छात्रों के जीवन में नई रोशनी आई है।

किरंदुल निवासी स्नेहा शर्मा भी उन्हीं छात्रों में से एक है, जिन्हें ज्ञान ज्योति पुरस्कार मिला है। स्नेहा शर्मा के पिता नहीं हैं, उनकी मां सुनीता शर्मा आर्थिक स्थिति खराब होने के कारण स्नेहा की ट्यूशन फीस जमा नहीं कर पा रहीं थी। जिला शिक्षा अधिकारी और जिला कलेक्टर दंतेवाड़ा के सहयोग से सीएसआर टीम एएम/एनएस इंडिया ने कार्पोरेट सोशल रेस्पांसिबिलिटी के तहत बेहतर और उच्च शिक्षा के लिए चार साल में तीन लाख 50 हजार रुपये की आर्थिक सहायता देने के लिए स्नेहा का चयन किया।

इस सहयोग से स्नेहा ने हैदराबाद के नर्सिंग कालेज से बीएससी नर्सिंग की चार साल की पढ़ाई पूरे लगन और मेहनत से पूरी करते हुए आज स्थानीय अस्पताल में इंटर्नशिप कर रही है। स्नेहा के अनुसार ग्रामीण इलाकों में नर्स पिछड़े और अलग-थलग समुदायों के लोगों तक स्वास्थ्य सेवा पहुंचाने में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाती हैं। इसलिए अपनी जिम्मेदारी को समझते हुए वह उन सभी लोगों की सेवा करने के लिए बहुत उत्सुक है। जिले के अधिकांश गांव आदिवासी क्षेत्र के अंतर्गत आते हैं, जहां शिक्षा पहुंचाना और उन्हें शिक्षित करना आज भी एक बड़ी चुनौती है। जिसके कारण आदिवासी क्षेत्रों में कई प्रतिभाएं संसाधनों के अभाव, आर्थिक समस्या और सही मार्गदर्शन के बिना पीछे रह जाती हैं।

इस समस्या को समझते हुए आर्सेलर मित्तल निपान स्टील इंडिया ने एएम/एनएस ज्ञान ज्योति पुरस्कार की पहल की है, जिसके तहत 10वीं, 12वीं, जेईई/एनईईटी/नर्सिंग के मेधावी छात्र-छात्राओं को, जो विशेष रूप से सुदूर क्षेत्रों से आते हैं। उनके बेहतर प्रदर्शन और प्रयास के लिए प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से पुरस्कृत किया जाता है। साथ ही इस कार्यक्रम से एएम/एनएस इंडिया द्वारा मेरिट में आने वाले छात्रों को उच्च शिक्षा प्राप्त करने में आर्थिक रूप से सहायता प्रदान की जाती है।

800 युवा प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे

इस प्रोत्साहन से पुरस्कृत विद्यार्थी को बेहतर शिक्षा के अवसर तो मिलते ही हैं साथ ही अन्य युवा छात्र भी इससे प्रेरित होकर अपनी शिक्षा के प्रति और जागरुक होते हैं। वर्तमान में देश के अलग-अलग हिस्सों के करीब 800 युवा प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे हैं। एएमएनएस प्रतिनिधि ने बताया कि युवा देश का भविष्य हैं, अच्छी शिक्षा और सुविधाएं मिलना उनका अधिकार है। हम अपनी ओर से समाजिक दायित्व का निर्वहन करते हुए सूदूर अंचल के विद्यार्थियों को बेहतर और उच्च शिक्षा के लिए मदद कर रहे हैं।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local