दंतेवाड़ा। छत्‍तीसगढ़ के दंतेवाड़ा जिले के अरनपुर मुख्य सड़क से निलावाया के बीच वर्ष 2018 में प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत निलावाया गांव तक सड़क बनने का काम शुरू हुआ था। सड़क का जम कर विरोध नक्सलियों द्वारा किया गया था। 2018 में विरोध में इस सड़क पर नक्सलियों बड़ी वारदात को अंजाम दिया था। जिसमे सब इंस्पेक्टर सहित दो जवान दूरदर्शन के कैमरा मैन की इस नक्सली हमले में मौत हो गई थी, जिसके बाद इस सड़क का अधूरा निर्माण रुका हुआ है।

सड़क अधूरी टूटी पुलिया दे रही निलावाया के ग्रामीणों को दर्द

अब यही अधूरी सड़क नक्सलियों द्वारा तोड़ी गई पुलिया निलावाया के ग्रामीणों को दर्द दे रही है। शनिवार शाम को निलावाया के बंडी की जगदलपुर मेडिकल कालेज ले जाते हुए रास्ते में मौत हो गई थी। जिसे स्वास्थ्य विभाग द्वारा शव वाहन तो उपलब्ध करवा दी गई थी, पर प्रधानमंत्री की खस्ताहाल सड़क में शव वाहन नहीं जा पाई जिसके बाद स्वजन रोते बिलखते कवाड़ में गोला नाले को पार कर शव को निलावाया लेकर गए। स्वजनों ने बताया घर के सदस्य के मौत हो जाने का दर्द उस पर कई मील पैदल गिट्टी वाली सड़क में शव को ढोना पड़ता है।

निलावाया के ग्रामीणों पर प्रशासन की बेरुखी के साथ नक्सली दहशत भारी पड़ रही है। विभाग सुरक्षा का हवाला देकर चार साल से तीन करोड़ की लागत से बनने वाली सड़क को बना नही रहा है, जबकि पुलिस के अपने दावे हैं। पर निलावाया में नक्सलियों द्वारा तोड़ी गई पुलिया, अधूरी सड़क का निर्माण न हो पा रहा है, जबकि 2018 तक इस गांव में वाहनों की आवाजाही आसानी से हो जाती थी, पर पक्की सड़क का नक्सलियों का विरोध में पुलिया तोड़ दी और प्रशासन अब इसको बनने कोई पहल नहीं कर रहा है।

नक्सल क्षेत्र में सड़कों के निर्माण में होता है बड़ा खेल

नक्सल क्षेत्र में बनने वाली सड़कों पर बड़ा खेल होता है। ठेकेदार सड़क के निर्माण का टेंडर प्राप्त कर लेते हैं, फिर मिट्टी, मुरुम, रिटर्निग वाल जैसे फायदे वाले कार्य को कर सड़क के डामरीकरण का समय आने पर नक्सली दहशत का हवाला देते हैं। निलावाया सड़क भी इसी खेल का हिस्सा बन कर रह गई है। यहां भी मिट्टी, मुरुम का कार्य पूर्ण हो गया है। अब ठेकेदार और विभाग दोनों सड़क निर्माण को पूर्ण करने कोई दिलचस्पी नहीं दिखा रहें है और निलावाया के सैकड़ों आदिवासी परिवार खामियाजा भुगत रहें है।

Posted By: Ashish Kumar Gupta

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close