जगदलपुर (नईदुनिया प्रतिनिधि)। नगरनार ऑयरन एंड स्टील प्लांट प्रभावितों की नौकरी के लिए नामिनी बदलने की मांग पर हाइपॉवर कमेटी ने अपना निर्णय बंद लिफाफा में एनएमडीसी मैनेजमेंट को भेज दिया है। 15 फरवरी तक इस मामले पर निर्णय आने की संभावना जताई जा रही है। इस बीच 12 फरवरी को कंपनी मुख्यालय हैदराबाद में मजदूर संगठनों के साथ मैनेजमेंट की होने वाली बाइपरटाइट कमेटी की बैठक में भी नामिनी बदलने का मुद्दा उठ सकता है।

विदित हो कि स्टील प्लांट के लिए द्वितीय चरण में वर्ष 2010 में जमीन देने वाले 1154 किसानों में 30 किसानों ने नौकरी के लिए पूर्व में तय किए गए नामिनी को बदलने की अर्जी दे रखी है। यह मामला पिछले पांच-सात सालों से लंबित चल रहा है। नामिनी बदलने की मांग पर निर्णय लेने में हो रही देरी को देखते हुए मांग करने वाले किसानों के समूह ने तीन फरवरी से हड़ताल पर जाने की धमकी दी थी लेकिन बाद में स्टील प्लांट प्रोजेक्ट मैनेजमेंट द्वारा निर्णय के लिए 15 फरवरी तक का समय मांगने पर किसान मान गए हैं। मिली जानकारी के अनुसार जिन 30 किसानों ने नामिनी बदलने की अर्जी लगाई है उनमें कई के प्रकरणों की समीक्षा के बाद कमेटी ने नामिनी बदलने की अनुशंसा कर दी है। कमेटी ने अपनी रिपोर्ट जिला पुनर्वास समिति और एनएमडीसी मैनेजमेंट दोनों को भेजा है। ज्ञात हो कि एनएमडीसी मैनेजमेंट ने प्रकरणों की समीक्षा के लिए ज्वाइंट जीएम पर्सनल जी प्रियदर्शिनी नगरनार स्टील प्लांट प्रोजेक्ट की अध्यक्षता में पांच सदस्यीय कमेटी बनाई थी। कमेटी की पिछले माह जनवरी के अंत में बैठक हुई थी।

Posted By: Nai Dunia News Network

fantasy cricket
fantasy cricket