दंतेवाड़ा। दंतेवाड़ा विधानसभा उपचुनाव के लिए सोमवार सुबह 7 बजे से मतदान जारी है। उपचुनाव में 9 प्रत्याशी चुनावी मैदान में हैं। इनके भाग्य का फैसला क्षेत्र के एक लाख 88 हजार 624 मतदाता करेंगे। कटेकल्याण के परचेली रोड पर सुरक्षा बलों को एक आईईडी मिला है, इसमें 200 मीटर लंबा वायर भी जुड़ा था, इसे डिफ्यूज कर‍ दिया है। इस इलाके में नक्सलियों की मौजूदगी की सूचना मिली है। उधर कटेकल्याण विकास खंड के परचेली में एक पीठासीन अधिकारी की चंद्र प्रकाश ठाकुर की मौत हो गई। माना जा रहा है कि उन्हें हार्ट अटैक आया था, वे गुमलनार के रहने वाले थे। फरसपाल और ऐसे मतदान केंद्र जहां से ईवीएम खराब होने की वजह से सुबह मतदान शुरू नहीं हो पाया था, वहां मतदान शुरू हो गया है। नक्सल इलाके में सुरक्षा व्यवस्था के लिए करीब 18 हजार से ज्यादा जवान तैनात किए गए हैं। इसके साथ ही जंगली क्षेत्रों में ड्रोन से नजर रखी जा रही है। मतदान दोपहर 3 बजे तक चलेगा।

दोपहर 1 बजे तक जिले में 43.36 प्रतिशत मतदान हुआ है। उपचुनाव के अब तक सबसे अधिक मतदान मासोरी में दर्ज किया गया, यहां 11 बजे तक 97 प्रतिशत मतदान हो चुका है। मासोरी में 266 मतदाताओं में से 259 मतदाता अपने मताधिकार का उपयोग कर चुके हैं। इसी तरह दुरुस्त मतदान केंद्र छोटे बेड़मा के 262 में से 203 मतदाता केंद्र पहुंचकर मतदान किया, यह 76 प्रतिशत है। बेड़मा में 42 प्रतिशत मतदान हुआ है।

लाइफ जैकेट पहन बोट में बैठकर मतदान करने पहुंचे

उपचुनाव में मतदान के लिए नदी पार कर छिंदनार, चेरपाल, पाहुरनार मतदान केंद्रों तक पहुंचने के लिए बोट उपलब्ध कराई गई है। चेरपाल, पाहुरनार आदि गांव के मतदाता लाइफ जैकेट पहनकर बोट में बैठे और नदी पार वोट देने पहुंच रहे हैं। बताया जा रहा है कि 4500 वोटर्स को इंद्रावती नदी पार करवाने के लिए 10 बोट उपलब्ध करवाई गई है।

कांग्रेस की ओर से यहां देवती कर्मा और भाजपा की ओर से ओजस्वी मंडावी चुनाव मैदान में हैं। कांग्रेस प्रत्याशी देवती कर्मा सुबह मां दंतेश्वरी के दर्शन करने पहुंची इसके बाद ग्राम फरसपाल पहुंचकर मतदान किया। मतदान केंद्रों में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं, नगरीय और ग्रामीण इलाकों में मतदाताओं की कतार लगी हुई है।

ओजस्वी मंडावी ने पुलिस पर लगाया आरओपी न देने का आरोप

भाजपा प्रत्याशी ओजस्वी मंडावी ने अपने गृहग्राम गदापाल के बूथ क्रमांक 187 पहुंचकर मतदान किया। ओजस्वी मंडावी सुबह वोट डालने के पहले दंतेश्वरी मंदिर देवी के दर्शन करने पहुंची। इसके बाद उन्होंने अपने पति स्व. भीमा मंडावी के फोटो पर पुष्प अर्पित किए। ओजस्वी ने आरोप लगाया कि पुलिस ने आरओपी देने में देरी की, जिसकी वजह से वे सुबह मतदान करने गदापाल नहीं पहुंच पाईं।

कभी नक्सलियों के समर्थक थे, अब आए लोकतंत्र के साथ

नक्सलियों के सहयोगी बनकर अलोकतांत्रिक कार्यो में संलिप्त रहे ग्राम गुमियापाल के नीलो और कांछा नामक युवाओं ने भी मतदान किया। इलाके में सक्रिय नक्सली लीडर पोडिया के मुठभेड़ में मारे जाने के बाद ये लोग पुलिस के संपर्क में आकर लोकतंत्र में आस्था जताई है।

यहां कांग्रेस, भाजपा के बीच ही दिलचस्प मुकाबला होने की बात राजनीतिक पंडित कर रहे हैं। सीपीआई और छग जनता कांग्रेस भी चुनावी मैदान में पूरे दम खम के साथ जुटी है। इलाके में सीपीआई के साथ बसपा और आम आदमी पार्टी भी अपने परंपरागत वोटों के साथ मैदान में मजबूती के साथ डटी हैं। इसके अलावा एनसीपी के प्रत्‍याशी अजय नाग, गोंडवाना गणतंत्र पार्टी के योगेश मरकाम तथा निदर्लीय सुदरूराम कश्‍यप हैं। जबकि ईवीएम में दसवें नंबर में नोटा रखा गया है।

सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम

चुनाव के मद्देनजर जिले में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किए गए हैं। मतदान दलों के साथ ही जवानों की तैनाती की गई है वहीं सड़कों पर आरओपी भी लगाई गई है। विधानसभा में सुरक्षा के लिए अर्द्धसैनिक बलों की 60 कंपनियां यहां पदस्थ किया गया। मतदान केंद्रों के आसपास पहले ही गश्ती बढाने के साथ जवानों की तैनाती है।

ड्रोन कैमरे का हो रहा उपयोग

अंदरूनी इलाकों में नक्सली मुवमेंट और अन्य गतिविधियों पर ड्रोन कैमरे से भी नजर रखी जा रही है। पुलिस अधिकारियों के अनुसार सुरक्षा के लिए वर्दी और सादे वर्दी में उनके लोग तैनात किए गए हैं। साथ ही मतदान दल, केंद्रों पर ड्रोन के माध्‍यम से भी निगरानी की जा रही है। बताया जा रहा है कि शनिवार से ड्रोन जिले के चिन्हित इलाकों में उड़ान भर रहे हैं।

उपचुनाव विधानसभा क्षेत्र दंतेवाड़ा

मतदाता कुल - 1,88,624

पुरुष मतदाता - - 89,748

महिला मतदाता - 98,876

कुल मतदान केंद्र - 273

शिफ्ट मतदान केंद्र - 28

संगवारी मतदान केंद्र- 05

आदर्श मतदान केंद्र - 05