दंतेवाड़ा। Dantewada News: बस्तर में नक्सलवाद अब अपने अंतिम दौर में है। धीरे- धीरे नक्सली वहां से अपना कारोबार समेट रहे हैं। बहुत से नक्सली नेता पुलिस और सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में मारे जा चुके हैं और बच्चे हुए नक्सल सदस्य अब आत्मसमर्पण कर रहे हैं। इसी कड़ी में दंतेवाड़ा पुलिस को आज एक बड़ी कामयाबी हाथ लगी है। स्थानीय पुलिस द्वारा चलाए जा रहे लोन वर्राटू (घर वापस आईये) अभियान से प्रभावित होकर जिले के पांच इनामी सहित 10 नक्सलियों ने आत्मसमर्पण किया है। जिला पुलिस इसे अपनी एक बड़ी उपलब्धि मानकर चल रही है। क्योंकि इलाके में यही लोग पिछले दिनों सड़क को नुकसान पहुंचाने में शामिल थे।

एसपी डॉ अभिषेक पल्लव ने बताया कि आज मंलागिर एरिया कमेटी के सक्रिय सदस्यों में कोसा मरकाम, माडवी आयता, देवा मंडावी, भीमा कोर्राम, मुक्का माडवी, कोसा तेलाम, जोगा मंडावी, मरकाम, मंगा मंडावी और हिड़मा मरकाम शामिल है। जबकि एक नक्सली को जेल भेजा गया। समर्पण कार्यक्रम में एसपी डॉ पल्लव के अलावा सीआरपीएफ के डीआईजी विनय प्रताप सिंह, एएसपी उदय किरण, राजेंद्र जायसवाल, एसडीओपी चंद्रकांत गवर्ना आदि पुलिस अधिकारी मौजूद थे।डॉ पल्लव ने कहा कि राज्य सरकार की पुनर्वास नीति और खोखली नक्सल विचारधारा से मोहभंग के बाद बहुत से दलम सदस्य अब हथियार छोड़कर समाज की मुख्य धारा की ओर लौटने की कोशिश कर रहे हैं। इसी कोशिश में एक कदम बढ़ाते हुए 10 नक्सलियों ने आत्मसमर्पण किया है। आत्मसमर्पण के बाद अब यह समाज की मुख्यधारा से जुड़कर आगे का जीवन जी पाएंगे। इन्हें मुख्य धारा में वापस लाने के लिए सरकार की पुनर्वास नीति के तहत पूरा सहयोग किया जाएगा।

Posted By: Himanshu Sharma

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस