कुकानार, नईदुनिया न्यूज। Dantewada News : तोंगपाल में स्थित दुर्गा मन्दिर के निर्माण के कुछ वर्षों के बाद ही इस मंदिर के प्रबंधन को लेकर यहां के ग्रामीणों के आपस में मनमुटाव व वर्चस्व की लालसा के कारण पिछले लगभग 15 वर्षो से तकरार व टकराव की स्थिति निर्मित हो रही थी। कई बार मामला पुलिस थाने तक पहुंचा रिपोर्ट भी दर्ज करने की स्थिति आ गई थी परन्तु तात्कालिक थाना प्रभारियों द्वारा मन्दिर का व ग्रामीणों का आपसी मामला होने के कारण समझाइश देकर निपटा दिया गया था, बावजूद इसके ग्रामीणों का आये दिन मन्दिर के नाम पर विवाद होता रहा।

जनमित्र कार्यक्रम में एसपी के संज्ञान में आया मामला

26 जून को जनता व ग्रामीणों के बीच समन्वय को लेकर तोंगपाल पुलिस द्वारा पुलिस जनमित्र का कार्यक्रम का आयोजन करवाया था। कार्यक्रम में अन्य ग्रामीणों के साथ मन्दिर विवादित मामले के दोनों पक्ष भी उपस्थित थे। इस मामले को इंद्रपाल सिंह भदौरिया ने एसपी सलभ सिन्हा के समक्ष रखा व मामले को सुलझाने का आग्रह किया। एसपी के मार्गदर्शन में एसडीओपी शोभराज अग्रवाल ने तोंगपाल के प्रमुख ग्रामीणों व विवादित दुर्गा मन्दिर के दोनों पक्षों के सदस्यों को बुलाकर लगातार तीन दिनों तक बैठक किया व उन्हें इस संबंध में कानूनी जानकारी भी दी व समझाइश देकर दोनों पक्षों से हटकर ग्रामीणों की सहमति से अलग एक प्रबंधन समिति का गठन किया व निर्णय लिया कि यही समिति मन्दिर के सारे परिसम्पतियों के देखरेख व रखरखाव हेतु उत्तरदायी होगी। इसके साथ ही दुर्गा मंदिर में तोंगपाल उप तहसील के नायब तहसीलदार व थाना प्रभारी पदेन संरक्षक के रूप में होंगे। इस सारी कार्यवाही में तोंगपाल थाना प्रभारी विजय पटेल की भी मुख्य भूमिका रही।

चन्द्रशेखर प्रजापति बने अध्यक्ष

सार्वजनिक दुर्गा मंदिर समिति तोंगपाल के नवीन पदाधिकारियों में ग्रामीणों के अतिरिक्त शासकीय कर्मचारियों एवं हर वर्ग को महत्त्‌व दिया गया है जिससे हर वर्ग व ग्रामीणों में हर्ष का माहौल है। दुर्गा मंदिर समिति में अध्यक्ष चंद्रशेखर प्रजापति, उपाध्यक्ष गेंदलाल सोनी एवं अमर चौहान, कोषाध्यक्ष अनिल द्विवेदी, सचिव उमेश बाघमार ्एवं नीलम कश्यप, मार्ग दर्शक मंडल नत्थू सिंह भदौरिया, मन्नूराम नाग, इंद्रपाल सिंह भदौरिया, ईश्वर नाग,नेमीचंद नाहटा को मनोनीत किया गया।