दंतेवाड़ा। जिले के मरीजों को ब्‍लड, यूरिन और दीगर का माइक्रोबायलाजी कल्‍चर टेस्‍ट के लिए रायपुर या जगदलपुर की निर्भरता खत्‍म हो गई। सोमवार को डॉक्‍टर दिवस पर जिला हॉस्पिटल में माइक्रोसॉफ्ट बायोलाजी कल्‍चर टेस्‍ट के लिए अलग विभाग की शुरूआत हो गई।

विभागाध्‍यक्ष डॉ वंदना कोसरिया ने बताया कि ब्‍लड और यूरिन का कल्‍चर टेस्‍ट के लिए माइक्रोबायालजी लैब की शुरूआत हो गई है। जहां कल्‍चर सहित अन्‍य जांच सुविधा लोगों को मिलेगी। डॉक्‍टर के मुताबिक पहले यही टेस्‍ट के हमें सैंपल रायपुर या जगदलपुर मेडिकल कॉलेज भेजना पड़ता था।

रिपोर्ट आने में समय लगता था। लेकिन अब विभाग में आधुनिक उपकरणों की उपलब्‍धता से रिपोर्ट जल्‍दी मिल जाएगा। सभी तरह के रिपोर्ट अब तीन से सात दिन के भीतर मरीजों को उपलब्‍ध करा दिया जाएगा। डॉक्‍टर के मुताबिक वर्तमान में ब्‍लड, यूरिन के कल्‍चर टेस्‍ट होंगे लेकिन आने वाले समय में पेनेटोनियन, कैथेटेनियम ट्यूब आदि के साथ अन्‍य जांच भी किया जाएगा।

निजी संस्‍थानों की अपेक्षा शुल्‍क काफी कम है और यह दर मेडिकल कॉलेज के मापदंड के आधार पर होगा। रविवार की सुबह लैब शुभारंभ अवसर पर सीएस डॉ एमके नायक, पैथालाजिस्‍ट डॉ दीपेंद्र सिंह भदौरिया सहित अन्‍य स्‍टाफ मौजूद था।