दंतेवाड़ा। दंतेवाड़ा में दो दिन पहले पुलिस को जियाकोडता के जंगल में एक नक्सली का शव मय हथियार बरामद हुआ था। वहीं अब नक्सली के मौत के संबंध में माओवादी दरभा डिवीजन के सचिव साईनाथ ने प्रेस नोट जारी किया है। जिसमें नक्सलियों ने कंमाडर मड़कम देवा की मौत करंट लगने से होने की बात बताई गई है।

दरअसल, पुलिस को जियाकोडता के जंगल से नक्सली मड़कम देवा की लाश बरामद हुई थी। जिसके पास हथियार भी थे। वहीं जियाकोडता के जंगल से बरामद हुए नक्सली मड़कम देवा की मौत कैसे हुई इस बात के कायस लगाए जा रहे थे। पर अब नक्सलियों ने कंमाडर मड़कम देवा की मौत जंगल मे शिकार के लिए ग्रामीणों द्वारा लगाए गए करंट से होने की बात स्वीकारी है। नक्सली कमांडर देवा पर आठ लाख का इनाम घोषित था। पुलिस को नक्सली का शव दो दिन पहले भुसारास और जियाकोडता के जंगलो के बीच लावारिस हालात में मिला था।

प्रेसनोट में करंट लगने का जिक्र

नक्सलियों ने प्रेस नोट में लिखा है कि मड़कम देवा 2017 से नक्सल संगठन से जुड़ा था, जो सुकमा जिले के छिंदगढ़ ब्लाक के कुन्ना गांव का रहने वाला था। प्रेस नोट में लिखा है कि देवा संगठन के काम के लिए जाते समय करंट की चपेट में आ गया था। साथ ही इस प्रेस नोट में माओवादी ने मड़कम देवा को क श्रद्धांजलि दी है।

बता दें कि धान की फसल के समय नक्सली जंगली सुअर के शिकार के लिए जंगलो में करंट लगा कर इनका शिकार करते हैं। वहीं कई बार इस करंट की चपेट में आ कर ग्रामीणों की मौत भी हो चुकी है। महीने भर पहले दंतेवाड़ा के किरन्दुल थाना क्षेत्र के मादाडी गांव का ग्रामीण भी ऐसे ही करंट के जाल में फंस गया था जिससे उसकी मौत हो गई थी।

Posted By: Abhishek Rai

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close