Naxalites In Dantewada: दंतेवाड़ा (नईदुनिया)। छत्‍तीसगढ़ के दंतेवाड़ा में लंबी खामोशी के बाद नक्‍सलियों ने फिर एक वारदात को अंजाम दिया है। इस वारदात में नक्‍सलियों ने एक ग्रामीण की गला रेत कर हत्‍या कर दी है। जानकारी के मुताबिक के बाद मंगलवार की रात नक्सलियों ने दंतेवाड़ा के कटेकल्याण थाना क्षेत्र के टेटम गांव में वारदात को अंजाम दिया। यहां नक्‍सलियों ने पूर्व सरपंच के पुत्र उमेश मड़कम की गला रेत कर हत्‍या कर दी। बता दें कि टेटम गांव में कैंप खुलने के बाद नक्‍सलियों की ये पहली वारदात है। नक्‍सलियों के इस वारदात के बाद क्षेत्र में दहशत का माहौल है।

मालूम हो कि दंतेवाड़ा में लगातार नक्‍सलियाें के समर्पण से नक्‍सली बौखलाए हुए हैं। हाल ही में इस क्षेत्र में बड़ी मुठभेड़ भी हुई है। इस मुठभेड़ में डीआरजी जवानों और नक्सलियो के बीच फायरिंग हुई थी। मुठभेड़ में तीन महिला नक्‍सलियों के मारे जाने का दावा किया गया था। अब बीती रात नक्‍सलियों ने टेटम गांव में गोपनीय सैनिक की हत्‍या कर दी। वहीं घटना की पुष्टि करते हुए दंतेवाड़ा एसपी अभिषेक पल्लव ने बताया मारा गया ग्रामीण गोपनीय सैनिक का काम करता था। उसकी नक्‍सलियों ने हत्‍या कर दी है।

गोपनीय सैनिक उमेश अपने घर से बाइक से मंगलवार सुबह कटेकल्याण की तरफ निकला था, ग्रामीण ऐसी आशंका जाता रहें हैं कि नक्सलियो ने मंगलवार सुबह ही उमेश को अगवा कर लिया था, रात को उसकी हत्या कर शव को टेटम गांव की मुख्य सड़क पर ला कर डाल दिया। बाइक अभी नहीं मिली है उमेश मड़कम की, जिसकी तलाश आसपास डीआरजी के जवानों द्वारा की जा रही है।

कटेकल्याण ब्लाक का टेटम गांव घोर नक्सल प्रभावित था। इस गांव की सड़क, स्कूल सब कुछ नक्सलियों ने उजाड़ रखा था। सालभर पहले फोर्स ने यहां कैंप बनाया। उमेश ने नक्सलियों के खिलाफ जाकर कैंप की स्थापना में मदद की थी। इसके बाद उसे गोपनीय सैनिक बनाया गया। इसी बात से नक्सली उससे नाराज थे।

Posted By: Kadir Khan

NaiDunia Local
NaiDunia Local