Naxalites In Dantewada: दंतेवाड़ा। छत्‍तीसगढ़ के दंतेवाड़ा जिले के अरनपुर थाना पुलिस और डिस्ट्रिक रिजर्व गार्ड (डीआरजी) की संयुक्त टीम बुरगुम पोटाली क्षेत्र में गश्त पर निकली थी। इस दौरान पांच लाख को इनामी नक्सली नक्सली ड़ेंगा देवा उर्फ देवा मंडावी और एक लाख का इनामी मंडावी सन्न उर्फ संतोष को गिरफ्तार किया गया। दोनों ग्राम पंचायत पोटाली के रहने वाले हैं। डेंगा देवा सप्लाई टीम का कमांडर है। उस पर सड़क काटने, आइईडी प्लांट करने, हत्या सात जैसे संगीन मामले थाने में दर्ज हैं।

वहीं मंडावी सन्न जनताना सरकार का अध्यक्ष है। उस पर सड़क काटने, अपहरण, आइईडी प्लांट करने के पांच मामले थाने में दर्ज हैं। दंतेवाड़ा एसपी अभिषेक पल्लव ने बताया दोनों गिरफ्तार नक्सलियों को न्यायालय में पेश किया गया, जहां से उन्हें जेल भेज दिया गया।

दंतेवाड़ा जिला पुलिस अधीक्षक डात्र अभिषक पल्लव ने बताया कि एक तरफ दंतेवाड़ा जिले में लोन वर्राटू यानी घर वापसी योजना को लगातार आशातीत सफलता मिल रही है और दिन प्रतिदिन वर्षों से नक्सलवाद के रास्ते पर चल रहे नक्सली आम जनजीवन जीने के लिए आत्मसपर्मण कर रहे है और मुख्यधारा से जुड़ रहे हैं। वहीं जिला पुलिस बल स्थानीय केंद्रीय बलों के साथ संयुक्त टीम बनाकर लगातर सर्चिंग अभियान चलाए हुए है जिसका नतीजा है कि आए दिन यहां कुख्यात नक्सली अपने ही मांद में दबोचे जा रहे हैं।

एक नक्सली ने किया समर्पण

वहीं दूसरी ओर लोन वर्राटू अभियान से प्रभावित होकर कुआकोंडा थाने में 10 हजार के इनामी नक्सली वेट्टी मरकाम उर्फ सुक्कु ने दंतेवाड़ा एसपी अभिषेक पल्लव सीआरपीएफ के अधिकारियों के सामने समर्पण कर दिया। समर्पण करने वाला नक्सली वर्ष 2014 श्यामगिरि घाटी में जवानों पर हमला करने की घटना में शामिल था। इस घटना में कुआकोंडा थाना प्रभारी सहित चार अन्य जवान शहीद हुए थे।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local