दंतेवाड़ा। Navratri 2022: शारदीय नवरात्र के पहले दिन से ही मां दंतेश्वरी शक्तिपीठ में देवी के दर्शनार्थ मंदिर में भीड़ जुटने लगी है। सुबह से लेकर देर शाम रात तक देवी के दर्शन के लिए भक्तों का तांता लगा रहा। मंदिर से लेकर सिंहद्वार तक पूरे दिन कतार लगी रही थी। प्रदेश के साथ ही देश के दूसरे क्षेत्रों से भी श्रद्धालु माईजी के दरबार में पहुंचे थे। शक्तिपीठ में मनोकामना ज्योति कलश भी प्रज्वलित किए गए हैं।

प्रथम दिन देवी के शैल पुत्री के स्वरूप के दर्शन करने पांच हजार से अधिक भक्त पहुंचे थे आगामी दिनों और ज्यादा भीड़ होने की संभावना है। भक्तों की भीड़ को देखते हुए जिला व मंदिर प्रशासन द्वारा सुरक्षा की तगड़ी व्यवस्था की गई है। दोपहर में धूप और बाद में झमाझम बारिश से मौसम सुहाना हो गया था। लोगों को भी इससे काफी राहत मिली। मंदिर प्रांगण तक पहुंचने महिला एवं पुरुषों के लिए अलग-अलग बैरिकेटिंग की गई है।

मंदिर में अंदर एक साथ भीड़ न हो इसके लिए एक-एक को अंदर जाने दिया जा रहा है। वीआइपी के लिए 2100 रुपये का शुल्क लेकर अलग से दर्शन की व्यवस्था है। भक्तों को गर्भगृह के बाहर परिसर में स्थापित गणेश प्रतिमा के समीप से माईजी के दर्शन करने की अनुमति दी गई है। इससे गणेश प्रतिमा के पास से दर्शन करने वाले पुरुष भक्तों को धोती पहनने की भी जरूरत नहीं पड़ेगी। गर्भगृह में जाकर दर्शन करने वाले भक्तों के लिए धोती पहनना अनिवार्य है।

पहले दिन पद यात्रियों की संख्या कम रही : नवरात्र के पहले दिन दंतेश्वरी मंदिर में पैदल दर्शन करने आने वाले भक्तों की संख्या कम रही। जगदलपुर मार्ग से ही कुछ भक्त पदयात्रा करते हुए पहुंचे थे। पदयात्रियों की ज्याद भीड़ पंचती से सप्तमी तक होती है। दंतेवाड़ा शक्तिपीठ में पहली बार शुरू हुए आनलाइन ऐप में रविवार रात 12 बजे तक 239 भक्तों ने आनलाइन ज्योति कलश के लिए शुल्क जमा किया था। मां दंतेश्वरी डाट इन ऐप में इस वर्ष तीन लाख तीन हजार आठ सौ पचास रुपये की राशि एकत्र हुई है। इससे पहले दंतेश्वरी मंदिर में यह सुविधा उपलब्ध नहीं थी।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close