दंतेवाड़ा। शुक्रवार को जिले के फरसपाल और अरनपुर थाना क्षेत्र से चार नक्सलियों की गिरफ्तारी हुई है। इनमें तीन पर एक- एक लाख रूपए का इनाम था। गिरफ्तार नक्सली इलाके में कई संगीन अपराधों को अंजाम दिया है। जिसमें मुख्य रूप रेल पटरी उखाड़ने, फायरिंग और बम- पोस्टर लगाने के साथ हत्या, लूट और मारपीट जैसे अपराध भी इनके नाम थानों में दर्ज है।

मुखबिर की सूचना पर फरसपाल- भैरमगढ़ मार्ग की ओर फोर्स निकली थी। इस दौरान कच्चेघाटी में कुछ संदिग्ध लोग नजर आए और पुलिस को देखकर भागने लगे। जिन्हें डीआरजी और फरसपाल थाना के जवानों ने घेराबंदी कर तीन को पकड़ा। पूछताछ पर इनकी पहचान भैरमगढ़ एरिया कमेटी के सक्रिय सदस्य निकले।

जिनकी पहचान एलजीएस सदस्य बुधराम पिता मंगलू ओयाम, जनमिलीशिया कमांडर ओयाम राजू पिता सन्नू और डीएकेएमएस सदस्य पुनेम सुखराम पिता पंडरू के रूप में हुई। तीनों बीजापुर जिले के बेचापाल थाना मिरतुर के रहने वाले हैं। उधर अरनपुर थाना क्षेत्र के ग्राम पोटाली के जंगल में घेराबंदी कर मलांगिर एरिया कमेटी के एलओएस सदस्य नंदा पिता भीमा कुंजाम को गिरफ्तार किया गया है।

बाल संघम सदस्य में हुए थे भर्ती

गिरफ्तार सभी नक्सली बाल संघम सदस्य के रूप में संगठन से जुड़कर काम कर रहे हैं। बुधराम ने पुलिस को बताया कि 2016 में वह बाल संघम सदस्य के रूप में नक्सली संगठन में शामिल हुआ। 2018 में एलजीएस कमांडर ने उसे अपने अपने दल का सदस्य बनाया।

इसी तरह नक्सली राजू में उर्फ नवीन 2006 में जनमिलिशिया सदस्य के रूप में संगठन में जुड़ा। वर्ष 2008 में भैरमगढ़ एरिया सचिव चंद्रन्ना ने उसे बेचापाल जनमिलिशिया कमांडर बनाया। वह अपने साथियों के साथ 2015 में कमालूर में रेल पटरी उखाड़ा था। 2016 में सातधार के पास प्रेशर बम लगाने के साथ बैनर पोस्टर लगाया और इसी साल ग्राम कोंडापाड़ मुठभेड़ शामिल होकर फोर्स पर फायरिंग की थी।

गिरफ्तार नक्सली सुखराम भी 2012 में बाल संघम सदस्य के रूप में भर्ती हुआ। उसे एरिया कमेटी इंचार्ज कमलू पुनेम ने भर्ती कराया था। यह गांव में रहकर नक्सलियों की विचारधारा का प्रचार प्रसार, सामग्री सप्लाई के साथ बैठक आयोजित करवाता था।

पोटाली जंगल से गिरफ्तार नक्सली नंदा कुंजाम 2015 में नक्सली संगठन में जुड़कर एलओएस सदस्य के रूप में काम करता रहा। उसे लीडरों ने गांव में रहकर नक्सली प्रचार- प्रसार, सामान सप्लाई के साथ पुलिस की गतिविधियों पर नजर रखने की जिम्मेदारी थी।

'फरसपाल और अरनपुर थाना क्षेत्र से चार नक्सलियों की गिरफ्तारी हुई है। इनमें से एलजीएस सदस्य, जनमिलिशिया कमांडर और एलओएस सदस्य पर एक- एक लाख रुपये का इनाम था। गिरफ्तार नक्सलियों को न्यायालय में पेश कर रिमांड पर जेल भिजवाया दिया गया है।' - डॉ अभिषेक पल्लव, एसपी