दंतेवाड़ा (नईदुनिया न्यूज)। छत्‍तीसगढ़ के दंतेवाड़ा जिले के कटेकल्याण ब्लाक के ग्राम जियाकोड़ता में बाढ़ में सड़क बह गई तो गर्भवती महिला को एंबुलेंस तक पहुंचाने के लिए कांवड़ से आठ किलोमीटर पैदल लेकर चलना पड़ा। बड़ेगुडरा के स्वास्थ्य केंद्र में महिला ने स्वस्थ नवजात को जन्म दिया है।

दंतेवाड़ा जिले के ग्राम जियाकोड़ता का मामला, जच्चा-बच्चा दोनों सुरक्षित

जानकारी के अनुसार ग्राम जियाकोड़ता निवासी महिला जोगी को मंगलवार को प्रसव पीड़ा हुई। प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र की दूरी यहां से 12 किलोमीटर है। एंबुलेंस मात्र चार किलोमीटर एटेपाल तक ही पहुंच पाई। इसके बाद रास्ता आगे जाने योग्य नहीं था। ऐसे में स्वजन के सामने प्रसूता को एंबुलेंस तक पहुंचाने के लिए बड़ी चुनौती थी। उन्होंने चारपाई को ही कांवड़ का रूप दिया और महिला को लेकर निकल पड़े। इस तरह जच्चा-बच्चा दोनों की जान बच पाई। बस्तर के अंदरूनी इलाकों में यह नजारा आम है। सड़क नहीं होने के कारण गांवों तक एंबुलेंस नहीं पहुंच पाती।

Posted By:

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close