दंतेवाड़ा (नईदुनिया प्रतिनिधि)।

कोरोना संक्रमण के कारण सभी शालाएं बंद हैं। इस कारण बच्चों की पढ़ाई प्रभावित हुई है। बावजूद छत्तीसगढ़ शासन द्वारा सीजी स्कूल डॉट इन पोर्टल में पढ़ई तुंहर दुआर अभियान के माध्यम से बच्चों को ऑनलाइन शिक्षा उपलब्ध कराने की कोशिश की गई है। दंतेवाड़ा जैसे क्षेत्र में नेटवर्क की समस्या के साथ-साथ पालकों के पास मोबाइल का न होना बड़ी समस्या है। इन समस्याओं से जूझते हुए दंतेवाड़ा जिले के शिक्षक पढ़ई तुंहर दुआर के माध्यम से पारा मोहल्ले में क्लास लगाकर शिक्षा की भरपाई कर रहे हैं। इन सभी विकल्पों को ध्यान में रखकर बालिका शिक्षा को बढ़ावा देने हेतु जिला शिक्षाधिकारी राजेश कर्मा एवं जिला मिशन समन्वयक एसएल शोरी ने सभी शिक्षकों और पालकों से अपील की है कि बच्चियों की पढ़ाई लगातार जारी रखने बालिकाओं को प्रोत्साहन देने के साथ उन्हें सुविधा और साधन उपलब्ध कराना आवश्यक है। बालिका को निरंतर शिक्षा से जोड़कर समाज का विकास करना होगा। बालिकाओं की पढ़ाई हमेशा जारी रहे, इस उद्देश्य के साथ राष्ट्रीय बालिका शिक्षा अभियान हर कदम बेटी के संग चलाया जा रहा है। शिक्षा विभाग और रूम टू रीड के सहयोग से दंतेवाड़ा जिला में प्रोजेक्ट विजयी कार्यक्रम चल रहा है, जिसमें जीवन कौशल पर बालिकाओं के साथ सत्र लिए जाते हैं। कोरोना काल में बालिकाओं के लिए नई-नई जानकारी वीडियो, गपशप, पोस्टर के माध्यम से पहुंचाई जा रही हैं।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस