दंतेवाड़ा/सुकमा। गणतंत्र दिवस के एक दिन पहले दक्षिण बस्तर में नक्सलियों ने जमकर उत्पात मचाया। तीन यात्री बस समेत एक पिकअप को करीब दो घंटे तक नक्सलियों ने अपने कब्जे में रखा। यात्रियों से सड़क पर गड्ढे खुदवाने के बाद बसों को छोड़ा गया। इधर सुकमा जिले में नक्सलियों ने फायरिंग की और मार्ग अवरुद्ध किया।

दंतेवाड़ा जिला मुख्यालय से करीब 55 किमी दूर बस्तर जिले के तोयनार में रविवार शाम नक्सलियों ने तीन यात्री बसों को रोका। करीब दो घंटे तक अपने कब्जे में इन्हें रखा। सभी उम्र के यात्रियों को बसों से उतारकर सड़क पर गड्ढे खुदवाए गए और बसों को छोड़ा। एक पिकअप वाहन को भी रोका गया था। वाहनों में 26 जनवरी को दंडकारण्य बंद से संबंधित बैनर भी लगाए गए। कटेकल्याण थाना के एसएचओ विजय पटेल ने बताया कि इनमें से एक बस कटेकल्याण रात्रि करीब 8 बजे पहुंची वहीं दो अन्य बसें जगदलपुर के लिए रवाना हुई हैं। बसें शाम करीब साढ़े पांच व छह बजे के बीच जगदलपुर तथा दंतेवाड़ा से रवाना हुई थी। वहीं सुकमा जिले में भी नक्सलियों ने एनएच 30 पर उत्पात मचाया है। सुकमा-कोंटा मार्ग पर जिला मुख्यालय से करीब दस किमी दूर गिरदालपारा के पास पेड़ काटकर सड़क पर गिराए गए हैं। कहीं-कहीं मार्ग भी काटा गया है। कुछ वाहनों को रोकने की भी खबर मिली है।

ओबामा का पुतला खड़ा किया

सुकमा जिले के चिंतागुफा व तेमेलवाड़ा कैंप पर नक्सलियों ने फायरिंग की। जवानों ने भी जवाबी फायरिंग की। देर शाम तक दोनों ओर से गोलीबारी जारी रही। किसी के हताहत होने की खबर नहीं है। सुकमा-जगदलपुर मार्ग पर रोकेल के पास नक्सलियों द्वारा सड़क के बीचों बीच अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा के पुतला खड़ा करने की भी खबर मिली है।

'तीन बस को नक्सलियों ने दो घंटे तक रोका था। बाद में नक्सलियों ने बैनर लगाकर छोड़ दिया। किसी भी यात्री को कोई नुकसान नहीं पहुंचाया है।'

-आरके विज, एडीजी नक्सल ऑपरेशन

---

Posted By:

NaiDunia Local
NaiDunia Local