नईदुनिया(दंतेवाड़ा)। Dantewada News: छत्‍तीसगढ़ के नक्‍सल प्रभावित दंतेवाड़ा जिले में तीन नक्सलियों ने आज समर्पण किया। तीनों मिलिट्री दलम के सदस्य थे। इन नक्सलियों पर कुल 18 लाख के इनाम घोषित थे। लोन वर्राटू अभियान के तहत तीनों नक्‍सलियों ने दंतेवाड़ा एसपी के समक्ष आत्मसमर्पण किया। इस अभियान के तहत अब तक 136 इनामी सहित कुल 549 नक्सली आत्मसमर्पण कर चुके हैं। नक्सलियों के शहीदी सप्ताह के दौरान यह आत्मसमर्पण दंतेवाड़ा पुलिस के लिए बड़ी कामयाबी है।

दो आत्मसमर्पित नक्सली रमेश हेमला और संतु हेमला पर पांच-पांच लाख और रितेश हेमला पर आठ लाख रुपये का इनाम घोषित है। तीनों आत्मसमर्पित नक्‍सली पुलिस पर घात लगाकर हमला जैसी कई बड़ी घटनाओं में शामिल थे। दो आत्मसमर्पित नक्सली बटालियन टीम के सदस्य थे जबकि एक नक्‍सली कंपनी नंबर दो का सदस्य था। आत्मसमर्पित इनामी नक्सली बीते 10-11 वर्षों से नक्सल संगठन में सक्रिय रहे हैं।

नक्सल उन्मूलन अभियान के तहत छत्तीसगढ़ शासन की "पुनर्वास नीति" के प्रचार-प्रसार तथा दन्तेवाड़ा पुलिस चलाये जा रहे "लोन वर्राटू अभियान" (घर वापस आईये ) से प्रभावित होकर नक्सलियों के अमानवीय, आधा विचारधारा एवं उनके शोषण, अत्याचार तथा स्थानीय आदिवासियों पर होने वाले नक्सली हिंसा से तंग आकर नक्स के द्वारा मनाये जाने वाले शहीद सप्ताह ( प्रतिवर्ष 28 जुलाई से 03 अगस्त तक) के पहले दिन प्रतिबंधित नक्सल सं के नक्सली क्रमशः (1) रमेश हेमता पिता लक्डू हेमला उम्र लगभग 24 वर्ष जाति मुरिया, (2) संतु हेमला पिता स्व० मला उम्र लगभग 28 वर्ष जाति मुरिया एवं (3) रितेश हेमला पिता सन्नू हेमला उम्र लगभग 30 वर्ष जाति मुरिया ने दिनांक 28.07.2022 जिला पुलिस दन्तेवाड़ा के समक्ष आत्मसमर्पण कर मुख्यधारा में जुड़ने का निर्णय लिया।

समर्पण करने वाले नक्सली सुकमा और बीजपुर जिले के रहने वाले हैं, जो सुकमा जिले में हुई बड़ी नक्सल वारदात में समिल थे,मीनपा में हुई नक्सली घटना में 17 जवान शहीद हुए थे,इसके साथ ही और भी बड़ी नक्सली वारदातों में ये नक्सली समिल थे।

दंतेवाड़ा एसपी सिदार्थ तिवारी

शहीद सप्ताह के पहले दिन ही बड़ी कामयाबी मिली है,हम और भी नक्सलियों से अपील करते हैं, समाज की मुख्य धारा में जुड़ कर शासन की योजनाओं का लाभ लें।

Posted By: Ashish Kumar Gupta

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close