दंतेवाड़ा। स्वतंत्रता की 75वीं वर्षगांठ एवं अरविंद घोष दार्शनिक एवं योग गुरु के 150वीं जयंती पर जिला जेल दंतेवाड़ा में पांच दिवसीय योग शिविर का आयोजन किया गया। यह शिविर जिला जेल में परिरूद्ध बंदियों एवं अधिकारी-कर्मचारियों के लिए 18 से 22 मई तक आयुष योगा वेलनेस सेंटर दंतेवाड़ा, आयुष विभाग दंतेवाड़ा के सहयोग से किया गया। पांच दिवसीय इस योग शिविर में 200 बंदियों, अधिकारी-कर्मचारी लाभान्वित हुए।

आयुष विभाग के योग प्रशिक्षक डा संतोष कुमार बर्मन द्वारा जेल में परिरूद्ध बंदियों, अधिकारियों एवं कर्मचारियों को योग से संबंधित प्रार्थना, ओम जाप, स्ट्रेचिंग एक्सरसाइज, सूर्य नमस्कार, प्राणायाम, अनुलोम-विलोम, वृक्षासन, ताड़ासन आदि विभिन्न योगासन ध्यान एवं चिंतन से संबंधित योगासन कराया गया। इसमें ध्यान, योग के महत्व के संबंध में विस्तृत रूप से अवगत कराया गया।

डा बर्मन ने बताया कि हम योग के माध्यम से अपने शरीर एवं मन को स्वस्थ रख सकते हैं तथा शारीरिक, मानसिक एवं बौद्धिक विकास कर अपने कार्यो में सफलता प्राप्त कर सकते हैं। बंदियों एवं जेल में पदस्थ अधिकारियों-कर्मचारियों द्वारा पूरे लगन, उत्साह एवं पूर्ण मनोयोग से योगाभ्यास किया गया। योग शिविर के समापन दिवस पर जिला पंचायत अध्यक्ष तुलिका कर्मा द्वारा जेल में बंदियों के साथ योगाभ्यास में भाग लिया तथा बंदियों को योग के शारीरिक एवं मानसिक लाभ के संबंध में जानकारी प्रदान की गई।

तुलिका ने जेल से रिहा होकर एक सभ्य नागरिक बनकर समाज की मुख्यधारा से पुनः जुड़ने के लिए बंदियों को प्रेरित किया। इस अवसर पर जेल अधीक्षक जीएस शोरी ने बंदियों एवं जेल अधिकारियों- कर्मचारियों के मानसिक तनाव को दूर करने एवं शारीरिक रूप से स्वस्थ एवं खुश रहने हेतु अपने दैनिक दिनचर्या में योग को शामिल किये जाने के लिए प्रेरित किया तथा बंदियों को जेल में ही प्रतिदिन योग किये जाने के लिए हर संभव सुविधा उपलब्ध कराये जाने की बात कही, ताकि बंदियों को इसका लाभ मिल सके।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close