रायपुर। पूर्व मंत्री और भाजपा विधायक ननकी राम कंवर की डीजी मुकेश गुप्ता के खिलाफ शिकायत की जांच डीजी जेल गिरधारी नायक करेंगे। सरकार ने नायक को जांच करके दो महीने में रिपोर्ट देने का निर्देश दिया है।

विधानसभा सत्र के दौरान ननकीराम कंवर ने मुकेश गुप्ता के खिलाफ सात पेज की शिकायत मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से की थी। मुख्यमंत्री बघेल ने राज्यपाल के अभिभाषण के दौरान ही एलान किया था कि पूरे मामले की जांच कराई जाएगी।

कंवर ने अपनी शिकायत में गुप्ता की पदोन्न्ति से लेकर मिक्की मेहता मामले की शिकायत की गई थी। मुकेश गुप्ता पर कई गंभीर आरोप लगाए हैं। उन्होंने महिला मिक्की मेहता की संदिग्ध परिस्थितियों में हुई मौत के मामले की भी जांच की मांग की है।

कंवर ने पत्र में लिखा था कि मिक्की मेहता के परिजनों ने हत्या की आशंका जताई थी। भाजपा सरकार में भी ननकीराम कंवर ने मुकेश गुप्ता की शिकायत की थी, लेकिन उस समय मामले की जांच नहीं हुई।

कंवर ने आरोप लगाया था कि मुकेश गुप्ता के दबाव में मिक्की मेहता के परिजनों को प्रताड़ित किया गया और कई तरह का गंभीर अपराध भी दर्ज किया गया। कंवर ने पत्र में आरोप लगाया कि मुकेश गुप्ता की पदोन्न्ति नियम विरूद्ध हुई है।

ईओडब्ल्यू/एसीबी में पदस्थ सूबेदार रेखा नायर के नाम से गुप्ता पर करोड़ों रुपये की बेनामी संपत्ति खरीदने और उसके जरिये नेताओं, अधिकारियों का फोन अवैध तरीके से इंटरसेप्ट कराने की भी शिकायत की गई थी।

मदनवाड़ा मुठभेड़ की जांच की मांग

कंवर ने राजनांदगांव के मदनवाड़ा में नक्सलियों से हुई मुठभेड़ की जांच की भी मांग की है। इसमें कंवर ने आरोप लगाया कि पुलिस अधीक्षक विनोद चौबे की शहादत में मुकेश गुप्ता की संदिग्ध भूमिका थी।

Posted By: