नगरी (वि.)। छत्तीसगढ़ मनरेगा कर्मचारी महासंघ ब्लाक इकाई नगरी ने साकारात्मक पहल करते हुए हड़ताल के दौरान सेवा समाप्ति किए गए 21 सहायक परियोजना अधिकारियों की बहाली सरकार से करने के लिए कर्मचारियों ने अंतरराष्ट्रीय योग दिवस पर 21 फलदार किस्म के पौधों को

रोपण किया।

महासंघ के ब्लाक अध्यक्ष आयुष झा ने बताया कि समस्याओं को आबकारी मंत्री कवासी लखमा ने समझते हुए सरकार तक हमारी बातें पहुंचाई। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से जल्द सहायक परियोजना अधिकारियों की बहाली कराने का आश्वासन दिया है। इसको ध्यान में रखते हुए 21 पौधे रोपित कर राज्य सरकार से जल्द बहाली करने की मांग की है। महासंघ ने बताया कि मनरेगा योजनांतर्गत प्राकृतिक संसाधनों के प्रबंधन के कार्य प्रमुखता से किए जाते हैं। मानसून सत्र में जिले में कलेक्टर पीएस एल्मा एवं जिला सीईओ प्रियंका महोबिया के मार्गदर्शन में वृहद स्तर पर पौधरोपण करने की कार्ययोजना बनाई गई है। मनरेगा परिवार इस पौधरोपण कार्यक्रम के माध्यम से जिले के प्रबुद्ध नागरिकों,आम जनमानस, सामाजिक संगठनों से अपील करते है कि पौधरोपण अभियान से जुड़कर प्रकृति के प्रति अपनी जिम्मेदारी निभाए।

पौधरोपण में शामिल होने की अपील

66 दिनों तक चले मनरेगा हड़ताल के दौरान राज्य भर में कुल 21 सहायक परियोजना अधिकारियों की सेवा समाप्ति कर दी गई थी, जिसे आबकारी मंत्री कवासी लखमा की पहल व आश्वासन के बाद मनरेगा कर्मचारियों ने हड़ताल को स्थगित किया है। विश्वत सूत्रों की माने तो मंत्री के पहल के बाद शासन स्तर पर इस पर कार्यवाही भी शुरू हो गई है। पौधरोपण करने वालों में महासंघ के रविकला साहू, रामबती फूलमाली, रश्मि साहू, रूपेश्वरी पटेल, पूर्णिमा बंजारे, यशवंत घृतलहरे, हुपेन्द्र देवांगन, तुलसी चन्द्राकर, आकाश पाटिल, सचिन सोम, दुर्गेश देवांगन आदि थे।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close