धमतरी। स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय, भारत सरकार के कोरोना प्रबंधन के लिए लक्षित एवं त्वरित कार्रवाई के क्रियान्वयन के लिए एडवाइजरी जारी की गई है, जिसमें देश के विभिन्ना क्षेत्रों में विशेष रूप से सार्वजनिक हिल स्टेशनों पर कोविड 19 मापदंडों का स्पष्ट उल्लंघन देखा जा रहा है। जहां पर सामाजिक दूरी का उल्लंघन करते भारी भीड़ उमड़ रही है। नतीजन कुछ राज्य के क्षेत्रों में आर कारक (रिप्रोडक्शन नम्बर) में बढ़ोत्तरी चिंता का विषय है। इस पर संबंधित अधिकारियों को सभी भीड़-भाड़ वाली जगहों जैसे-दुकान, माल, बाजार, रेस्टोरेंट, रेल्वे स्टेशन एवं हाटस्पाट क्षेत्रों में कोविड से बचाव संबंधी व्यवहार नहीं किया जा रहा है, ऐसी जगहों पर सख्त पाबंदी लागू के उद्देश्य से कलेक्टर एवं जिला दंडाधिकारी पीएस एल्मा ने जिला प्रमुख एवं संबंधित विभाग के अधिकारियों को उपचारात्मक उपाय करने का आदेश जारी किया है।

आदेश में उल्लेख किया गया है कि लाकडाउन खुलने तथा अनलाक होने के बाद सभी बसों के चलने से आम जनता को सुविधा मिल रही है। वहीं इस समय शादी सीजन होने के कारण बसों में भीड़ बढ़ गई है। जिस तरह से बसों में भीड़ देखी जा रही है, उनसे कोरोना संक्रमण का खतरा बना हुआ है। यात्री बिना मास्क लगाए और बगैर शारीरिक दूरी के नियमों का पालन के बसों में सफर कर रहे हैं। कलेक्टर एवं जिला दंडाधिकारी ने जिला परिवहन अधिकारी को निर्देशित किया है कि वे सभी बस संचालकों को निर्देशित करें कि धमतरी से आने वाले एवं धमतरी से जाने वाले बसों में बिना मास्क के यात्रियों को बसों के अंदर प्रवेश नहीं दिया जाए। नियम का उल्लंघन करने पर संबंधित बस संचालकों पर नियमानुसार कार्रवाई की जाए। सभी बसों पर कोविड से संबंधित व्यवहार का संदेश पोस्टर लगा होना चाहिए।

इसी प्रकार शहर के बाजार खुलने और ग्राहकों की भीड़ से व्यापार को रफ्तार मिलने लगी है। शादियों, पर्वों का सीजन होने के कारण मुख्य बाजार एवं आसपास के क्षेत्रों में भीड़ उमड़ने लगी है, लेकिन दुकानदारों एवं जनसमुदाय की लापरवाही से संक्रमण दर में वृद्धि होने की आशंका हो सकती है। बाजारों में उमड़ रही भीड़ से ऐसा प्रतीत हो रहा है कि दुकानदारों को कोरोना वायरस का डर नहीं है। बाजार में थोड़ा भी कोरोना गाईडलाइन का पालन नहीं हो रहा है। एक भी दुकान के आगे सफेद गोला नहीं बना हुआ है। दुकानदारी करते समय दुकानदार अपने चेहरों को मास्क न लगाकर गले में लटकाए रहते हैं। वर्तमान में कोरोना केस कम हो गए हैं, किंतु अभी भी खतरा नहीं टला है। इसके बाद भी बजारों में भीड़ और बचाव की गाइडलाइन का उल्लंघन हो रहा है। ग्रामीण क्षेत्रों में भी किराना के साथ मोबाइल दुकानों, कपड़ा दुकान, शापिंग मॉल बाजार परिसर, साप्ताहिक बाजार मंडी इत्यादि जगहों पर भीड़ जुट रही है। इस पर नियंत्रण रखने के लिए अध्यक्ष चेम्बर ऑफ कॉमर्स, नगरनिगम आयुक्त और सभी मुख्य नगरपालिका अधिकारियों को अपने अपने क्षेत्र में नियंत्रण में आने वाले क्षेत्रों पर सख्ती बरतने के निर्देश उन्होंने दिए हैं।

पर्यटन स्थल पर सुरक्षा बरतने के जारी किए गए निर्देश

लाकडाउन में ढील मिलते ही लोग गर्मी से राहत और मौसम का मजा लेने के लिए पहाड़ों की ओर निकल पड़ते हैं। इन पहाड़ी इलाकों पर जनसैलाब दिख रहा है। इससे साफ है कि ये लापरवाही कोरोना की तीसरी लहर को और भी खतरनाक बना सकती है। ऐसे में सतर्क रहना बहुत जरूरी है, लेकिन लॉकडाउन से उब चुके लोग वर्तमान में हालातों को समझने के लिए तैयार नहीं है और घूमने-फिरने निकल रहे हैं। बीते दिनों से कुछ पर्यटन स्थल पर ट्रैफिक जाम जैसे हालात सामने आ रहे हैं। अतः प्रभारी अधिकारी, संस्कृति, पर्यटन एवं पुरातत्व विभाग, पुलिस विभाग, यातायात प्रभारी संबंधित जगहों पर कोविड नियमों का पालन कराना सुनिश्चित करने तथा भीड़भाड़ और बेतरतीब की व्यवस्था को सुधार करने एवं वहां कोरोना के नियमों का पालन कराना सुनिश्चित कराने के निर्देश जिला दंडाधिकारी ने दिए हैं।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local