धमतरी (वि)। भारतीय जनता पार्टी गंगरेल मंडल के ग्राम तेंदुकोन्हा में डा. श्यामा प्रसाद मुखर्जी की पुण्य तिथि मनाई गई। पुष्पांजलि कर उनके त्याग व बलिदान को याद किया गया।

इस अवसर पर मंडल अध्यक्ष ऋषभ देवांगन ने बताया कि एक देश में दो निशान, दो विधान का विरोध डा. श्यामा प्रसाद मुखर्जी ने किया था। भाजपा उनकी पुण्यतिथि को बलिदान दिवस के रूप में मनाया जाता है। विधायक प्रतिनिधि डीपेंद्र साहू ने कहा कि 23 जून 1953 को कैसे एक भारत माता के सपूत स्वर्गीय मुखर्जी का जेल के अंदर संदेहास्पद तरीके से मृत्यु हो गई।

भाजपा उनके विचारों को आगे बढ़ाते हुए कार्य कर रही है। कश्मीर भारत का अभिन्ना अंग होते हुए भी वहां अलग कानून लागू था। नरेन्द्र मोदी की अगुवाई वाली केंद्र सरकार ने भारत की एकता व अखंडता का सपना पूरा किया। भाजपा ही एक मात्र ऐसी पार्टी है जी राष्ट्रवाद की भावना के लिए कार्य करती है । कार्यक्रम में प्रमुख रूप से महिला मोर्चा महामंत्री मोनिका देवांगन, युवा मोर्चा मंडल प्रभारी कोमल सार्वा, उप सरपंच अछोटा अनीस देवांगन, धर्मराज सिन्हा, भोलाराम साहू अमित साहू, ईश्वर ध्रुव, सोहन यादव दाऊलाल डाहरे, अमित डाहरे, अभय बंजारे, छैतुराम, बिशनाथ, धरम नेताम, छन्नाू डाहरे, झुमुक मरकाम, अंकालु सहित अन्य कार्यकर्ता बंधुजन उपस्थित रहे। उमेद सिन्हा ने आभार व्यक्त किया।

रानी दुर्गावती का मनाया बलिदान दिवस

आदिवासी गोंड समाज परिक्षेत्र कुरुद एवं गाड़ाडीह पाली के तत्वावधान में 23 जून को ग्राम गाड़ाडीह (उमरदा) में रानी दुर्गावती की प्रतिमा के समक्ष सुबह 11 बजे से गढ़ मंडला की रानी दुर्गावती का बलिदान दिवस मनाया गया। इस अवसर पर समाज के संरक्षक सरजू राम परते, संचार सचिव जिला धमतरी के बसंत ध्रुव समाज के अध्यक्ष हरिश्चंद्र मंडावी एवं परदेसी राम मरकाम, सचिव तेजराम ध्रुव सहित सामाज के लोग उपस्थित थे।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close