धमतरी। सीजी पीएससी द्वारा आयोजित सहायक प्राध्यापक भर्ती परीक्षा-2019 में अनियमितता और भ्रष्टाचार का आरोप लगाते हुए पांच फरवरी को भारतीय जनता युवा मोर्चा ने शहर के गांधी मैदान में मुख्यमंत्री व पीएससी के अध्यक्ष के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। व विरोध प्रदर्शन करते हुए मुख्यमंत्री भूपेश बघेलऔर पीएससी के अध्यक्ष टामन सिंह सोनवानी का पुतला दहन किया।

छत्तीसगढ़ लोक सेवा आयोग द्वारा सहायक अध्यापक भर्ती परीक्षा 2019 में की गई अनियमितता और भ्रष्टाचार को लेकर भाजयुमो ने गांधी मैदान पर लोक सेवा आयोग और मुख्यमंत्री भूपेश बघेल का पुतला दहन किया। इस दौरान के दौरान भाजयुमो और पुलिस के बीच झूमाझटकी भी हुई। भाजयुमो कार्यकर्ताओं ने सीजीपीएसी में भ्रष्ट्राचार को लेकर जमकर नारेबाजी की और राज्य शासन से इसकी निष्पक्ष जांच की मांग की।

छत्तीसगढ़ लोक सेवा आयोग द्वारा प्रदेश के युवाओं के साथ अन्याय करते हुए सहायक प्राध्यापक के भर्ती परीक्षा में धांधली और भ्रष्टाचार किया गया है। प्रदेश कांग्रेस सरकार इस पर तुरंत संज्ञान ले और कार्रवाई करें।जिस प्रकार अनुपस्थित अभ्यर्थी का नाम साक्षात्कार के लिए बुलाया गया है, यह आयोग की कार्यप्रणाली पर संदेह उत्पन्ना करता है। उन्होंने कहा कि एक महीने के भीतर यदि राज्य शासन इसकी जांच कर कार्रवाई नहीं करती तो युवा मोर्चा द्वारा विधानसभा का घेराव किया जाएगा।

पुतला दहन के दौरान वरिष्ठ भाजपा नेत्री पार्वती वाधवानी, बिथिका विश्वास, विजय साहू, भाजयुमो जिलाध्यक्ष राजीव सिन्हा, हेमंत बंजारे, विजय मोटवानी, महावीर चोपडा, जागेंद्र साहू, नीलेश लूनिया, पवन गजपाल, पुष्कर यादव, भागवत साहू, रिक्की गनवानी,अविनाश दुबे सहित अन्य कार्यकर्ता उपस्थित थे।

सवैधानिक संस्थाओं की विश्वसनीयता पर प्रश्नचिन्ह दुर्भाग्यपूर्णः रंजना

लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित सहायक प्राध्यापक भर्ती परीक्षा में उठ रहे सवाल को दुर्भाग्यजनक बताते हुए संवैधानिक संस्थाओं की विश्वसनीयता पर आम जनता के बीच उठ रहे प्रश्न चिन्ह के लिए विधायक रंजना साहू ने चिंता व्यक्त की है।

उन्होंने ऐसी घटनाओं को प्रदेश के युवा वर्ग के सुनहरे भविष्य के साथ खिलवाड़ बताया है। विधायक श्रीमती साहू विभिन्ना प्रतियोगी परीक्षा आयोजित करने वाले लोक सेवा आयोग को क्लीन चिट दिए जाने पर कहा कि आग लगती है तभी कहीं ना कहीं धुआं उठता है, ऐसे मामलों की पूरी निष्पक्षता व पारदर्शिता के साथ जांच होना चाहिए, ताकि राज्य व राष्ट्र का भविष्य युवाओं का विश्वास सरकार तथा सरकार के संवैधानिक संस्थाओं पर कायम रहे। उन्होंने प्रदेश में कांग्रेस की सरकार आने के बाद से ऐसी संस्थाओं पर राजनीतिक दखलंदाजी की भी उन्होंने घोर भर्त्सना की है।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

 
Show More Tags