Cement Black Marketing In Dhamtari: धमतरी। छड़ व सीमेंट के दाम जरूर बढ़े हैं, लेकिन शहर के कई दुकानों में जितने दाम पर बेचा जा रहा है, उतना नहीं बढ़ा है। सीमेंट के शार्टेज होने के कारण कुछ व्यवसायी जमकर मुनाफाखोरी और कालाबाजारी में उतर आए हैं। 310 की जगह सीधे 340 रुपये बोरी में में बेच रहे हैं। पिछले 10 दिनों के भीतर सीमेंट व छड़ के दाम तेजी से बढ़ा है। छड़ 6200 से 6300 रुपये प्रति क्विंटल बिक रहा है।

दाम बढ़ने के बाद भी शहर व ग्रामीण अंचलों में आवक पर्याप्त है। दुकानदारों के पास पर्याप्त स्टाक भी है, ऐसे में छड़ के बढ़े हुए दाम पर ही व्यवसायी बेच रहे हैं, लेकिन पिछले सप्ताहभर से सीमेंट के शार्टेज होने से शहर व ग्रामीण अंचल में मकान बनाने वाले लोगों में हड़कंप मच गया है। कई दुकानों में तो सीमेंट ही नहीं मिल रहा है। जबकि जहां मिल रहा है, वहां के कुछ व्यवसायी मुनाफाखोरी पर उतर आए हैं।

बाजार के अनुसार सीमेंट के दाम 300 से 310 रुपये तक है, लेकिन धमतरी शहर व ग्रामीण अंचलों में कुछ व्यवसायी सीधे 340 रुपये बोरी तक बेच रहे हैं, ऐसे में मकान बनाने वाले लोगों की दिक्कत बढ़ गई है। सीमेंट व्यवसायियों का कहना है कि सीमेंट की आवक नहीं हो रही है, ऐसे में शार्टेज है। दाम भी काफी बढ़ गया है।

छोटी दुकानों के शटर बंद

धमतरी शहर व आसपास गांवों में छड़ व सीमेंट के छोटे व्यवसायियों ने दोनों के बढ़े हुए दाम को देखते हुए फिलहाल कुछ दिनों के लिए दुकानों में तालाबंद कर दिया है। क्योंकि बाजार में सीमेंट की शार्टेज के चलते कुछ होलसेल व्यवसायी महंगे दामों पर बेच रहे हैं, ऐसे में उन्हें वर्तमान में घाटा का सौदा साबित होने लगा है।

यही वजह है कि फिलहाल नहीं खरीद रहे हैं। वहीं मकान बना रहे मनोहर लाल, रोहित पटेल, राजेश कुमार का कहना है कि सीमेंट के दाम अधिक होने और बाजार में शार्टेज के चलते फिलहाल काम बंद करा दिए हैं।

सीमेंट की सप्लाई सामान्य होने के बाद पुनः काम शुरू कराएंगे। बाजार में सीमेंट 340 रुपये प्रति बोरी बेची जा रही है, जबकि दो दिन पहले यह सीमेंट 310 रुपये तक बिक रहा था, ऐसे में मकान बनाने वाले लोगों को भारी नुकसान उठाना पड़ रहा है।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local