धमतरी (नईदुनिया प्रतिनिधि)।

छत्तीसगढ़ प्रदेश स्वास्थ्य कर्मचारी संघ के प्रांत अध्यक्ष ओपी शर्मा के आह्वान पर धमतरी जिला के समस्त कर्मचारी दो एवं तीन नवंबर को अपनी मांगों को लेकर सामूहिक अवकाश पर रहेंगे। शासन को कई बार ज्ञापन दिया गया, लेकिन मांग पूरी नहीं हुई।

स्वास्थ्य कर्मचारी संघ के जिलाध्यक्ष मनोज वाधवानी ने बताया कि कोरोना संक्रमण को देखते हुए 50 लाख का बीमा जोखिम भत्ता सहित सात सूत्रीय मांगों के संबंध में शासन को अवकाश की चेतावनी दी गई है। संघ ने कहा है कि शासन द्वारा समस्त अधिकारी एवं कर्मचारियों को कोरोना से निधन होने पर 50 लाख का बीमा और आश्रितों को योग्यता अनुसार तत्काल अनुकंपा नियुक्ति दी जाए। कोरोना संक्रमित अधिकारी- कर्मचारी को चिकित्सा प्रतिपूर्ति देयकों का तत्काल भुगतान किया जाए। स्वास्थ्य कर्मचारियों की वेतन विसंगति दूर की जाए। कोविड डयूटीरत अधिकारी- कर्मचारी को 14 दिन की डयूटी, सात दिन क्वारंटाइन किया जाए। अधिकारी-कर्मचारियों को जोखिम भत्ता मूल वेतन का 10 प्रतिशत हर माह का अतिरिक्त वेतन दिया जाए। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी- कर्मचारियों को जुलाई 2020 की वेतन वृद्धि व लंबित भत्ता दिया जाए। जिला पदोन्नाति समिति गठित कर योग्यताधारी कर्मचारियों को पदोन्नात किया जाए। नवीन पेंशन योजना को समाप्त कर पुरानी पेंशन योजना को बहाल किया जाए। संविदा कर्मचारियों को नियमितीकरण किया जाए। अपनी मांगों को लेकर सामूहिक अवकाश पर पूर्व अध्यक्ष एसआर टंडन डीपी साहू, जीवधन सिन्हा, सुशील गायकवाड़, ईश्वर साहू, सावित्री मल्होत्रा, उषा साहू, उमाकांत वैद्य, एसके जैन, झनक साहू, कृष्णा यादव, ललित खुटियारे सहित अन्य सदस्य रहेंगे।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस