धमतरी। नईदुनिया प्रतिनिधि

नगरी निकाय चुनाव के मद्देनजर पुलिस अधिकारी एवं कर्मचारियों को चुनाव संबंधी प्रशिक्षण दिया गया। एएसपी मनीषा ठाकुर ने धमतरी अनुभाग के थाना प्रभारियों, अधिकारियों एवं कर्मचारियों को पुलिस कंपोजिट बिल्डिंग में चुनाव संबंधी प्रशिक्षण दिया। उन्होंने अधिकारी एवं कर्मचारियों को आदर्श आचार संहिता का पालन करने, मतदान के पूर्व, मतदान के दिन एवं मतदान के पश्चात की तैयारियों एवं उनके द्वारा क्या करना चाहिए और क्या नहीं करना चाहिए, इस संबंध में विस्तार से बताकर आवश्यक दिशा-निर्देश दिए गए। प्रशिक्षण में डीएसपी सारिका वैद्य, थाना प्रभारी सिटी कोतवाली, रुद्री अर्जुनी, केरेगांव एवं धमतरी अनुभाग के कुल 70 अधिकारी-कर्मचारी उपस्थित थे।

सामान्य प्रेक्षक से रेस्ट हाउस में मुलाकात कर सकते हैं लोग

नगरीय निकाय आम निर्वाचन 2019 के तहत सामान्य प्रेक्षक के रूप में आइएएस अधिकारी बिपिन मांझी धमतरी में मौजूद रहेंगे। जिला निर्वाचन कार्यालय से मिली जानकारी के मुताबिक मांझी धमतरी के पुराने रेस्ट हाउस के कमरा नंबर एक में सुबह 10.30 से 11 बजे तक लोगों से मिलने उपलब्ध रहेंगे, ताकि स्थानीय निर्वाचन संबंधी कोई चर्चा अथवा समस्या होने पर उसका हल निकाला जा सके। गौरतलब है कि बिपिन मांझी वर्तमान में महाप्रबंधक अंत्यावसायी और संयुक्त सचिव आदिवासी विकास विभाग हैं।

निर्वाचन व्यय लेखा 13 से 20 दिसंबर तक होगा जमा

नगरीय निकायों के आम निर्वाचन 2019 के तहत जिले के नगरपालिक निगम धमतरी और नगर पंचायत आमदी, कुरूद, भखारा, मगरलोड और भखारा में पार्षद पद के लिए चुनाव लड़ने वाले अभ्यर्थियों द्वारा प्रतिदिन का निर्वाचन व्यय लेखा रजिस्टर प्रोफार्मा (क) में संधारित की जाएगी। कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी स्थानीय निर्वाचन रजत बंसल ने कहा कि रजिस्टर के साथ समीक्षा के लिए 13 से 20 दिसंबर के सुबह 11 से शाम पांच बजे तक स्वयं अभ्यर्थी अथवा अधिकृत निर्वाचन अभिकर्ता के जरिए संबंधित नगरपालिक निगम एवं नगर पंचायत के व्यय लेखा दल प्रभारी अधिकारियों के माध्यम से प्रस्तुत किया जा सकेगा। बताया गया है कि प्रभारी अधिकारी की जवाबदेही होगी कि संबंधित व्यय संपरीक्षक को नियत तिथि पर व्यय लेखा रजिस्टर प्रोफार्मा (क) अनुवीक्षण के लिए प्रस्तुत करेंगे, ताकि नियुक्त प्रेक्षक एवं रिटर्निंग अधिकारियों को निर्वाचन व्यय की जानकारी उपलब्ध कराई जा सके। ज्ञात हो कि पार्षद पद के चुनाव लड़ने वाले अभ्यर्थियों का निर्वाचन व्यय की जांच नाम वापसी के लिए निर्दिष्ट अंतिम तिथि से मतदान तिथि के बीच अनिवार्यतः दो बार निर्वाचन व्यय संपरीक्षक द्वारा निर्धारित तिथि पर व्यय लेखा रजिस्टर की जांच की जाएगी।

----

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

ipl 2020
ipl 2020