धमतरी। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल महाराष्ट्र में कांग्रेस के पक्ष में चुनाव प्रचार करने के लिए अपने साथ धमतरी के युवा नेता आनंद पवार को हेलिकॉप्टर में ले गए। सोशल मिडिया में फोटो सहित यह खबर वायरल होते ही कांग्रेस के असंगठित क्षेत्र जन समस्या निवारण प्रकोष्ठ के प्रदेश महासचिव मितेश जैन ने अपने पद और पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा दे दिया है। दूसरी ओर आनंद समर्थकों में खुशी की लहर दौड़ गई है, उनका कहना है कि नए समीकरण से जल्द ही आनंद की कांग्रेस में वापसी के संकेत मिलने लगे हैं।

14 अक्टूबर सोमवार को मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के साथ आनंद पवार चुनाव प्रचार के लिए हेलिकाप्टर से महाराष्ट्र रवाना हुए। नागपुर उत्तर विधानसभा क्षेत्र में कांग्रेस प्रत्याशी नितिन राउत के समर्थन में भूपेश ने प्रचार किया। वहां मुख्यमंत्री बघेल ने सभा को संबोधित किया।

आनंद पवार मराठा समाज से आते हैं। नागपुर और अन्य क्षेत्रों में मराठों की अच्छी-खासी आबादी है। पवार के बहुत से रिश्तेदार नागपुर में रहते हैं। वे महाराष्ट्र से जुड़े हुए है। अक्सर वहां जाते रहते हैं इसलिए सीएम ने उनहें नागपुर ले जाने में प्राथमिकता दी।

कार्यकर्ता की भूमिका का मजाक उड़ाया जा रहा: मितेश

कांग्रेस के असंगठित क्षेत्र के जनसमस्या निवारण प्रकोष्ठ के प्रदेश महासचिव मितेश जैन ने कांग्रेस की प्राथमिक सदस्यता और अपने पद से 14 अक्टूबर को इस्तीफा दे दिया है। जैन का कहना है कि जिस पार्टी में बागियों को साथ लेकर काम करने की परंपरा बनती जा रही है। वहां पर सदस्य बनकर रहना, मतलब कार्यकर्ता की भूमिका का मजाक उड़ाना है। इसलिए मैने कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष, जिलाध्यक्ष समेत अपने प्रकोष्ठ के प्रदेशाध्यक्ष सद्दाम सोलंकी को मैसेज भेजकर इस्तीफा दे दिया है।

जैन का कहना है कि जिलाध्यक्ष, प्रदेशाध्यक्ष तथा कांग्रेस पार्टी की सरकार के मुख्यमंत्री द्वारा ऐसा करना सिखाया जाता है कि जो पार्टी के विरोध में काम करेगा, वहीं पार्टी का नेता है। इसे मैं बर्दाश्त नहीं कर सकता। 22 साल तक पार्टी के लिए काम किया है। जिला युवा कांग्रेस का अध्यक्ष समेत पार्टी के विभिन्न पदों पर रहा। जनता से बड़ा कोई पद नहीं होता।

Posted By: Sandeep Chourey