धमतरी-सिर्री। पर्याप्त बारिश नहीं होने से अंचल में खेती-किसानी का कार्य प्रभावित हो रहा है। पूर्व में लगाए गए धान के पौधे पानी नहीं मिलने से सूखने लगे हैं। सूखती फसल को बचाने के लिए किसान गंगरेल बांध से पानी छोड़ने की मांग कर रहे हैं। किसानों का कहना है कि गंगरेल बांध से पानी नहीं छोड़ने की स्थिति में किसानों की फसल खेतों में ही सूख जाएगी। गर्मी इतनी है कि छोटे पौधे झुलसने लगे हैं। खेत में दरारें पड़ने लगी है। थोड़ा बहुत पानी गिरने से कुछ नहीं होता। फसल बचाने गंगरेल बांध से तुरंत पानी छोड़ा जाए। सिर्री में 70 एकड़ में किसानी कर रहे किसान सौहेन्द्र सिंह गुरूदत्ता ने कहा कि वे इन दिनों काफी परेशान हैं। खेतों में पानी नहीं होने से खेत में दरारे पड़ने लगी हैं। खेत में ज्यादा पानी की जरूरत है।

सिर्री के चन्द्रहास श्रीवास ने कहा कि किसानी कार्य में तेजी तभी आएगी जब गंगरेल बांध से पानी मिलेगा। अभी तो बारिश ही नहीं हो रही है। किसान परेशान हैं कि पौधे न मर जाए। पानी की व्यवस्था कर आसपास तालाब, नदी, नहर नाला से मोटर के सहारे पानी खींचकर सिंचाई कर रहे हैं, ताकि पौधों को कुछ राहत मिले।

सिर्री के द्वारिका सिन्हा ने कहा कि स्थिति भयावह है। पानी नहीं गिरने से खेतों की स्थिति खराब है। सिवनीकला के किसान डामेश साहू ने कहा कि बांध से पानी छोड़ा जाए ताकि पौधों को सूखने से रोका जा सके। पौधे बिन पानी के मरने लगे हैं। गांव के सभी किसान पानी के नाम से परेशान हैं। नाले से पानी से सिंचाई करने पर कुछ दिनो में फिर वैसे का वैसा हो जाता है। सिर्री के पीलाराम साहू के अनुसार किसानी कार्य बिन पानी के रूक गया है। पानी खेतों में भरने के बाद पौधे भी बढ़ेगें।

बांध से पानी नहीं छूटा तो नुकसान तय

किसान नारद साहू सरपंच गातापार ने कहा कि गातापार में बोर नहीं है, सिर्फ नहर पानी के भरोसे किसान हैं। बांध से पानी नहीं छूटता है तो नुकसान तय है। नारायण यादव ने कहा कि धान के पौधे सूख रहे हैं। कुहकुहा सरपंच रूपेश निर्मलकर ने कहा कि किसानों को अभी पानी की आवश्यकता है। ऐसे में लोगों की आस गंगरेल बांध से रहती है। सिवनीकला के टिकेश्वर चन्द्राकर ने कहा कि किसानों को अपनी फसल बचाने एड़ी चोटी करनी पड़ रही है। कुछ भी हाल में फसल बचना चाहिए। आज किसानों के खेत में पानी नहीं होने के कारण अनेक किसान आसपास से पंपों से पानी लेकर सिंचाई कर रहे हैं। इस स्थिति में सरकार को किसानों की ओर ध्यान देना चाहिए। गंगरेल बांध से पानी छोड़ देना चाहिए। संकरी के किसान गोविंदा साहू ने कहा कि गंगरेल बांध से पानी छोड़ें ताकि किसानों का काम आगे बढ़ सके। पानी नहीं होने के कारण किसानों का कार्य रूक गया है।

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

NaiDunia Local
NaiDunia Local
 
Show More Tags