Cow Dung Purchase In Dhamtari: धमतरी। शासन की महत्वपूर्ण योजना गोधन न्याय योजना की प्रगति और जिले में हो रहे विकास कार्यों का जायजा लेने के लिए विशेष सचिव, मुख्यमंत्री एवं कृषि विभाग तथा गोधन न्याय योजना के राज्य नोडल अधिकारी एस भारतीदासन धमतरी पहुंचे। जिले में प्रवास के दौरान गोठानों का निरीक्षण कर वहां समूह की महिलाओं द्वारा संचालित बहुउद्देशीय गतिविधियों अविलोकन कर उनका कार्य देखा। मौके पर उन्होंने गोबर खरीदी व कंपोस्ट खाद बिक्री में ढिलाई बरतने पर नोडल अधिकारियों को कारण बताओ नोटिस जारी करने के निर्देश कलेक्टर को दिए।

इस अवसर पर उन्होंने गोठान समिति की महिलाओं से चर्चा कर उन्हें अधिक से अधिक गोबर एवं उससे निर्मित कंपोस्ट बेचकर स्वावलंबी बनने के लिए प्रेरित किया। भारतीदासन ने निरीक्षण के दौरान ग्राम भटगांव में समूह की महिलाओं के द्वारा लेमनग्रास की पैदावार लेकर उससे तैयार किए जा रहे आयल और अन्य उत्पादों की सराहना की एवं इसी तरह अन्य रोजगारोन्मुखी गतिविधियां संचालित करने की बात महिलाओं से कही। उनके साथ कलेक्टर पीएस एल्मा एवं जिला पंचायत सीईओ प्रियंका महोबिया उपस्थित थीं।

मुख्यमंत्री के विशेष सचिव एवं गोधन न्याय योजना के राज्य नोडल अधिकारी भारतीदासन धमतरी विकासखंड के ग्राम भटगांव पहुंचे, जहां पर गोठान समिति द्वारा की जा रही गतिविधियों का अवलोकन किया।

निरीक्षण के दरम्यान उन्होंने परिसर में वर्किंग शेड बनाने के निर्देश दिए, जिससे कि समिति एवं समूह के लोग अन्य आवश्यक गतिविधियों के साथ-साथ व्यक्तिगत कार्यों का निष्पादन भी कर सकें। इस दौरान उन्होंने जिला पंचायत सीईओ को प्रत्येक ब्लाक में ऐसे दो-दो गोठान में वर्किंग शेड स्थापित करने के निर्देश दिए, जहां बहुआयामी गतिविधियां संचालित करने अनुकूल उन्हें सुलभ व सुविधाजनक बनाया जा सके।

भारतीदासन ने गोठान के नोडल अधिकारी से गोबर खरीदी एवं उससे समूह को अर्जित आय की जानकारी ली। इस दौरान नोडल अधिकारी ने समूह की महिलाओं से चर्चा करते हुए कहा कि गोठान उनके स्वयं की आय सृजित करने वाली जगह है और वे जितना अधिक उत्पादन करेंगी समूह को उतना ज्यादा आर्थिक लाभ मिलेगा।

इसके उपरांत बहुआयामी गतिविधियों के तौर पर पांच एकड़ क्षेत्र में की जा रही लेमनग्रास, एलोवेरा, फूल सहित विभिन्ना प्रकार की सब्जियों की खेती का अवलोकन किया। कलेक्टर ने बताया कि तीन एकड़ रकबे में लेमनग्रास आयल की प्रोसेसिंग युनिट तीन लाख रुपये लागत से स्थापित की गई है, जहां पर अब तक लगभग 25 लीटर आयल समूह द्वारा उत्पादित किया गया है।

उन्होंने बताया कि लेमनग्रास आयल का बाजार मूल्य 1200 रुपये प्रतिलीटर है। इस पर भारतीदासन ने समूह की इस उपलब्धि की प्रशंसा करते हुए इसे और अधिक सुव्यवस्थित ढंग से विस्तारित करने महिलाओं को प्रोत्साहित किया।

इसके पश्चात उन्होंने ग्राम सारंगपुरी और देवपुर के गोठानों का निरीक्षण किया, जहां पर समूह द्वारा गोबर से वर्मी खाद तैयार करने जानकारी ली। भारतीदासन ने गोबर खरीदी के संबंध में समूह की महिलाओं से वार्तालाप किया।

इस दौरान पता चला कि इन गोठानों में प्रतिदिन गोबर की खरीदी नहीं की जा रही है, जिसके कारण वर्मी टांकों से कंपोस्ट का सही ढंग से उठाव नहीं किया जा रहा था। वहीं संबंधित विभागों के मैदानी अमलों के द्वारा इसके लिए सक्रियता नहीं बरती जा रही थी।

इस पर उन्होंने नाराजगी जाहिर करते हुए जनपद पंचायत धमतरी के मुख्य कार्यपालन अधिकारी और इन गोठानों के नोडल अधिकारियों को कारण बताओ नोटिस जारी करने के निर्देश कलेक्टर को दिए। साथ ही यह भी निर्देशित किया कि कल से रोजाना गोबर का विक्रय सुनिश्चित किया जाना चाहिए, अन्यथा भविष्य में संबंधितों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। निरीक्षण के दौरान संबंधित विभाग के अधिकारीगण उपस्थित थे।

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local