धमतरी (नईदुनिया प्रतिनिधि)। ग्राम देमार में वृद्धा की हत्या कर उसकी पोती को गंभीर रूप से घायल कर सोने-चांदी के जेवरात और नकद रकम चोरी करने के मामले में पुलिस ने दो सगे भाइयों को गिरफ्तार किया है। एक आरोपित नाबालिग है। चोरी के जेवरात को तालाब किनारे गड्ढा खोदकर छिपाया रखा था, जिसे पुलिस ने जब्त किया है।

पुलिस के अनुसार, आठ अगस्त को ग्राम देमार के आवास पारा में जयंत्री सिन्हा की दिनदहाड़े घर में घुसकर अज्ञात हत्यारे ने हत्या कर दी और उनकी पोती संध्या सिन्हा को बुरी तरह घायल कर दिया। जिस समय यह घटना हुई घर पर दादी और पोती ही थे। 79600 रुपये के सोने-चांदी के गहने और पेटी में रखा 10000 रुपये नकद चोरी कर ले गए। पुलिस ने प्रकरण दर्ज कर पड़ताल प्रारंभ की।

मुखबिर की सूचना के आधार पर संदेही पास में रहने वाले मुकेश बंजारे 21 वर्ष को पकड़कर घटना के संबंध में बारीकी से पूछताछ की। तब उसने बताया कि उसने अपने छोटे भाई के साथ मिलकर रक्षाबंधन त्योहार के खर्च के लिए पैसों की व्यवस्था करने चोरी का प्लान बनाया। मोहल्ला सूना होने पर जयंत्री बाई के घर के सामने से दीवार फांदकर घर में प्रवेश किया। चोरी के लिए कच्चे मकान में खोजबीन की। कुछ नहीं मिलने पर दोनों बाहर निकल रहे थे, तब जयंत्री बाई ने उन्हें देख लिया।

वह सबको बता देगी, इस डर से दोनों जयंत्री बाई को रसोई के कमरे में ले गए और उसके मुंह और नाक को दबाकर रखा, जिससे वह बेहोश हो गई। इसके बाद दोनों आरोपित पक्के मकान में चोरी के लिए घुसे। उसी समय बच्ची संध्या सिन्हा रोने लगी। तब दोनों भाईयों ने बच्ची के मुंह को हाथ से दबा दिया। गर्दन को पकड़कर उसे मुंह के बल जमीन पर पटका। इसके बाद अपने जेब में रखी चाबी के रिंग में लगा छोटा सा चाकू से बच्ची के ओंठ और बांये गाल को काट दिया। इन्होंने बच्ची को मृत समझा। बेहोश पड़ी जयंत्री बाई को होश न आए सोचकर रसोई में रखे सील पत्थर को उसके सीना में दो बार और बाएं गाल में एक बार पटककर उसकी हत्या कर दी।

हत्या के बाद सोने-चांदी के गहनें और नकद रकम चोरी कर भाग गए। गहनों को गांव के तालाब के मेढ़ के ढलान में गड्ढा खोदकर पर्स सहित दफन कर दिया और उसके उपर छोटे-छोटे पत्थर रख दिया। पुलिस ने आरोपित मुकेश बंजारे(21) और उसके नाबालिग भाई निवासी आवास पारा ग्राम देमार को गिरफ्तार कर लिया है।

आरोपितों तक पहुंचने में अर्जुनी प्रभारी निरीक्षक गगन वाजपेयी, साइबर सेल तकनीकी उप निरीक्षक नरेश कुमार बंजारे, एएसआइ अनिल यदु, राजेन्द्र सोरी, प्रधान आरक्षक देवेन्द्र राजपूत, आरक्षक कमल जोशी, धीरज डड़सेना, आनंद कटकवार, कृष्ण कन्हैया पाटिल , सितलेश पटेल, झमेल राजपूत, वीरेन्द्र सोनकर, विकास द्विवेदी, युवराज ठाकुर की भूमिका रही।

-

Posted By: Pramod Sahu

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close