धमतरी। नईदुनिया प्रतिनिधि

रुद्री रोड में सेंट मेरी स्कूल के सामने संचालित देशी-विदेशी शराब दुकान से विपरीत माहौल बन रहा है। बच्चों के पालकों, शाला प्रबंधन सहित वार्ड पार्षद ने यहां की शराब दुकान को अन्यत्र स्थापित करने की मांग की है, ताकि इसका बच्चों पर विपरीत असर ना पड़े।

रुद्री रोड किनारे सेंट मेरी स्कूल, सरस्वती ज्ञान मंदिर, कई कोचिंग सेंटर हैं। स्कूल के सामने शराब दुकान का संचालन किया जा रहा है, जो कि सर्वथा अनुचित है। पूर्व में भी पालकों और स्कूल के शिक्षकों ने शराब दुकान को हटाने की मांग की थी पर स्थिति जस की तस है। बच्चों के पालक सतीश बोरकर, महेश कुमार साहू, सुमन पांडे, तेज कुमार साहू, चंद्रकिरण साहू ने कहा कि स्कूल के सामने शराब दुकान को खोलने की अनुमति नहीं दी जानी चाहिए थी। सुबह शराब दुकान खुलते ही यहां पर शराबियों का जमावड़ा लगना शुरू हो जाता है। सामने ही स्कूल है। स्कूल छूटने समय यहां पर बच्चों को आने जाने में भी खासी दिक्कत होती है, क्योंकि शराब दुकान से शराब पीकर निकल रहे कुछ लोग नशे में चूर होकर रोड में ही गिर जाते हैं। अब तक कई बार इसके चलते दुर्घटनाएं भी हो चुकी हैं। पालकों और शाला प्रबंधन द्वारा पूर्व में ज्ञापन दिया गया था, तो इसे हटाने के लिए जिला प्रशासन ने सहमति दी थी। अब तक स्थिति जस की तस है। बच्चे प्रतिदिन शराब पीने वालों को स्कूल के आसपास शराब पीते हुए देख रहे हैं। इस कारण से इसे बंद किया जाना चाहिए। प्रतिदिन यहां पर डिस्पोजल भी काफी बड़ी मात्रा में फैला रहता है। इसके कारण से यहां गंदगी होने लगी हैं। इस पर भी ध्यान देने की आवश्यकता है। शराब दुकान से निकलने वाले लोगों और स्कूल के बीच अवस्था की स्थिति न बने इसलिए यहां पर पुलिस जवान की भी ड्यूटी लगाई जाती है, लेकिन यहां ड्यूटी करने की बजाय पुलिस के जवान यहां-वहां घूमते नजर आते हैं। ऐसे में स्थिति और खराब हो जाती है। शाम के समय तो यहां मेला सा लग जाता है। किसी को अंबेडकर चौक से रुद्री रोड की ओर आना हो तो काफी सोच समझकर आना पड़ता है, क्योंकि सड़क के बीचोंबीच शराबी झूमते हुए निकलते हैं। व्यस्ततम मार्ग होने के कारण यहां दुर्घटना की आशंका हमेशा बनी रहती है। डॉ. भीमराव अंबेडकर वार्ड के पार्षद अशोक सिन्हा ने भी जिला प्रशासन को पत्र सौंपकर शराब दुकान को हटाकर स्थानांतरित करने की मांग की है।

-----