कुरूद। नईदुनिया न्यूज

251 कांवरियों और 20 सेवक सदस्य मिलाकर कुल 271 कांवरियों का जत्था बाबा बैद्यनाथ धाम के लिए रवाना हो गया है। 20 सालों से युवाओं की टोली हर साल बाबा धाम में जल चढ़ाने जा रही है।

बोलबम सेवा समिति के अध्यक्ष भानु चंद्राकर ने बताया कि चार माह पूर्व सभी लोगों के लिए ट्रेन में सीटों का आरक्षण करवा लिया गया था। 20 सेवक सदस्यों की टोली यात्रा के तीन दिन पूर्व ही दो पिकअप वाहन में भंडारा का सामान लेकर रवाना हो गई थी।

सुल्तानगंज की गंगा नदी से कांवर में जल लेकर कांवरिया बाबा बैद्यनाथ धाम तक 105 किमी. की यात्रा कर पहुंचते हैं। बाबाधाम पहुंचने के बाद अलग-अलग टोलियों मे बंटकर बाबा मंदिर में कांवर के एक लोटे का जल चढ़ाकर पूजा-अर्चना करते हैं। सदस्य अपने लिए मन्नत मांगते हैं और क्षेत्र, प्रदेश के खुशहाली के लिए प्रार्थना करते है। बाबाधाम दर्शन के पश्चात कांवरिया कांवर के दूसरे लोटे का जल देवघर से 40 किमी. दूर बाबा वासुकीनाथ में वाहन से जाकर चढ़ाते हैं। बाबा बासुकीनाथ की मान्यता है जो कांवरिये बाबा बैद्यनाथ में जल चढ़ाएंगे, उसका दूसरे लोटे का जल बासुकीनाथ में चढ़ना अनिवार्य है, तभी जाकर यात्रा पूर्ण होती है। कांवरियों के जत्थे को रायपुर के रेलवे स्टेशन से रवाना किया गया। कांवरियों की पूर्व मंत्री और कुरूद विधायक ने हौसलाअफजाई की।

---