ग्राम भेंडसर का मामला, मिडिल स्कूल में तीन साल से है शिक्षकों की कमी

फोटो : 12 डीएचए 24

कैप्शन-स्कूल के गेट में ताला लगाकर नारेबाजी करते पालक।

धमतरी। नईदुनिया प्रतिनिधि

लगातार शिक्षकों की मांग करने के बाद भी स्कूल में शिक्षक की मांग पूरी नहीं होने से नाराज ग्राम भेंडसर के पालकों ने स्कूल गेट में ताला जड़ दिया। पालक स्कूल परिसर के बाहर ही शिक्षक की मांग को लेकर नारेबाजी करते रहे। आलम यह रहा कि 12 सितम्बर गुरूवार को स्कूल में मध्यान्ह भोजन भी नहीं बना। अतिरिक्त शिक्षक की अस्थायी नियुक्ति होने पर ही पालकों ने स्कूल का ताला खोला।

स्कूलों में पर्याप्त शिक्षक नहीं होने से बच्चों की पढ़ाई कई स्कूलों में बुरी तरह प्रभावित हो रही है। कुरूद ब्लाक के ग्राम भेंडसर में शिक्षकों की कमी बीते तीन साल से बनी हुई है। लगातार ग्रामीण शिक्षक की मांग करते आ रहे हैं, पर यह मांग पूरी नहीं हो पाई है। शासकीय माध्यमिक शाला में कुल 90 छात्र-छात्राएं अध्ययनरत हैं। वर्तमान में 90 छात्र छात्राओं को पढ़ाने के लिए केवल दो ही शिक्षक पदस्थ हैं। पालक समिति के अध्यक्ष डेमन साहू, उपाध्यक्ष उत्तरा सेन, सदस्य गंगाराम धरमगुड़ी, रामकुमार सिन्हा, तुलाराम साहू, नरेश साहू, गोवर्धन साहू, नारद ढीमर, मनहरण ढीमर, राधेश्याम साहू, खूबलाल साहू ने बताया कि लंबे समय से यहां शिक्षकों की मांग करते आ रहे हैं, लेकिन हमारी मांग अब तक पूरी नहीं हो पाई है। माध्यमिक शाला में बीते तीन सालों से शिक्षकों की समस्या है। यहां पदस्थ दो शिक्षकों में से एक टीचर कार्यालयीन कार्य से अक्सर बाहर रहते हैं। एक शिक्षक कक्षा छठवीं से आठवीं तक के बच्चों को कैसे पढ़ाएंगे, यह सोचने वाली बात है। शिकायत पर कुछ समय के लिए अस्थाई रूप से एकाध शिक्षक को यहां भेज दिया जाता है। परीक्षा खत्म होते ही शिक्षक पुनः अपने स्कूल में चले जाते हैं, जिसके चलते यहां शिक्षकों की समस्या साल भर बनी रहती है। कई साल से यहां प्रधान पाठक भी नहीं है। शिक्षकों की स्थाई व्यवस्था की मांग को लेकर 14 अगस्त को भी कलेक्टर एवं जिला शिक्षा अधिकारी को ज्ञापन सौंपा गया था,लेकिन आज तक कोई कार्रवाई नहीं हुई। मजबूरन यह कदम उठाना पड़ा। इस संबंध में कुरूद के ब्लॉक शिक्षा अधिकारी कुरूद डीपी सिंग ने बताया कि पालकों की मांग जायज है लेकिन पहले से ही विभाग में शिक्षकों की कमी है,फिर भी एकल व दो शिक्षकीय शालाओं में शिक्षकों की व्यवस्था कर रहे हैं, ताकि शैक्षणिक कार्य सही ढंग से संचालित हो सके। विरोध प्रदर्शन होने पर समझाईश के लिए तुरंत सहायक एबीईओ चंद्र कुमार साहू को भेजा गया। डीईओ के निर्देश पर जोरातराई अ में पदस्थ किसी एक अतिशेष शिक्षक को अस्थाई रूप से भेंडसर माध्यमिक शाला में पदस्थ किया जाएगा।

0