धमतरी (नईदुनिया प्रतिनिधि)।

भक्ति और आराधना का पर्व चैत्र नवरात्र को लेकर भक्तों में खासा उत्साह रहता है। पूरी श्रद्धा के साथ पूजा-अर्चना के साथ ही साथ अष्टमी और नवमीं तिथि पर कई समितियां और उत्साही परिवारजन भंडारा का आयोजन भी करते हैं, लेकिन इस बार कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव के चलते सभी सामाजिक, धार्मिक कार्यों पर पूर्ण रूप से ब्रेक लगा हुआ है। ऐसे में भंडारा का भी आयोजन नहीं हो पा रहा है। माता के भक्तों ने सेवा का अलग माध्यम निकाल लिया है। अब कुछ लोग भंडारे की सामग्री को जिला प्रशासन को भेंट कर रहे हैं, ताकि इससे जरूरतमंद लोगों के घरों का चूल्हा जल सके। लोगों के इस सराहनीय कार्य की प्रशंसा हो रही है।

लॉकडाउन के चलते वर्तमान में जिन गरीब परिवारों के पास आय का साधन नहीं है उन्हें काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। क्योंकि लॉकडाउन के चलते न तो वे काम पर जा पा रहे हैं और नहीं दो वक्त की रोटी जुगाड़ पा रहे हैं। ऐसे में जिला प्रशासन की अपील पर दानदाता स्वेच्छा से जिला प्रशासन के पास सामग्री भेंट कर रहे हैं, ताकि जरूरतमंदों की सहायता हो सके। चैत्र नवरात्र के चलते अष्टमी तिथि पर होने वाले भंडारे की सामग्री को जिला प्रशासन भेंट करने लोग आगे आ रहे हैं। बुधवार एक अप्रैल को काली माता मंदिर खेतपारा सुंदरगंज वार्ड के भक्त गौतम वाधवानी, इंदर वाधवानी, राजकुमार हरखानी, अमित शर्मा ने रूद्री की केंटीन इंचार्ज सूबेदार रेवती वर्मा को दाल, चावल, आलू, तेल, आटा भेंट किया। सदस्यों ने बताया कि हम लोगों के द्वारा प्रतिवर्ष नवरात्र की नवमी तिथि पर आम भंडारा का आयोजन किया जाता है। लेकिन इस वर्ष इस महान आपदा कोरेना महामारी के चलते आम भंडारा नहीं किया जा सकता है, इसलिए भंडारे में जो अनाज बनाया जाता, उस सामग्री को जरूरतमंदों के लिए प्रशासन को सौंप रहे हैं, ताकि माता का आशीर्वाद सभी पर बना रहे। इसके माध्यम से भंडारे का लाभ सभी को प्राप्त हो जाएगा।

अंगारमोती ट्रस्ट ने 20 टीन तेल सहित अन्य राशन सामग्री भेंट की

मालूम हो कि शहर की आराध्य देवी मां विंध्यवासिनी देवी मंदिर(बिलाई माता), मां अंगारमोती मंदिर, दंतेश्वरी मंदिर रिसाईपारा, शीतला मंदिर, दुर्गा मंदिर पावर हाउस बठेना वार्ड, काली मंदिर रुद्री रोड गोकुलपुर, रिसाईमाता मंदिर, डाकबंगला वार्ड स्थित काली मंदिर, काली मंदिर सोरिद, हटकेशर के कामना मंदिर, दानीटोला वार्ड स्थित शीतला मंदिर, शिव चौक स्थित वैष्णव मंदिर, गायत्री मंदिर, बस स्टैंड स्थित काली मंदिर, रत्नाबांधा के रत्नेश्वरी मंदिर, पुरूर के मौली माता मंदिर, जगतरा समिति दुर्गा मंदिर, कनेरी स्थित मां काली मंदिर सहित आमदी, कुकरेल, भखारा,कोलियारी, भटगांव, सोरम, नवागांव, लोहरसी सहित अन्य देवी मंदिरों में हर साल चैत्र व क्वांर नवरात्र में अष्टमी और नवमीं तिथि पर भंडारा का आयोजन किया जाता है। लेकिन इस बार कोरोना वायरस संक्रमण के कारण सभी जगह भंडारे का आयोजन नहीं हो रहा है। इसमें से कुछ समितियों द्वारा राहत सामग्री जिला प्रशासन को दी जा रही है।

आदिशक्ति मां अंगारमोती ट्रस्ट गंगरेल जिला धमतरी की ओर से 27 मार्च को कलेक्टर को अरहर दाल तीन क्विंटल, आटा पांच क्विंटल, चना तीन क्विंटल, मिर्ची 10 किलो, हल्दी 10 किलो, पोहा तीन क्विंटल, प्याज पांच क्विंटल, तेल 20 टीन, साबुन 500 नग का वितरण किया है। इसी तरह अन्य समिति के सदस्य राहत साग्रमी जिला प्रशासन को सौंप रहे हैं।

---

Posted By: Nai Dunia News Network

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

नईदुनिया ई-पेपर पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करे

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस

डाउनलोड करें नईदुनिया ऐप | पाएं मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और देश-दुनिया की सभी खबरों के साथ नईदुनिया ई-पेपर,राशिफल और कई फायदेमंद सर्विसेस