धमतरी, नईदुनिया प्रतिनिधि। नाबालिग लड़की को शादी का झांसा देकर बहला-फुसलाकर ले जाने और उनके साथ दुष्कर्म करने वाले युवक को विशेष न्यायाधीश पाक्सो एक्ट ने 10 साल की सजा सुनाई है। न्यायालयीन सूत्रों से मिली जानकरी के अनुसार कुरूद थाना क्षेत्र के ग्राम चरमुड़िया निवासी खेमेश्वर ध्रुव (23) पुत्र हलधर ध्रुव ने एक गांव की नाबालिग लड़की को पांच दिसंबर 2018 को बहला-फुसलाकर घर से भगा ले गए।

उसे शादी का झांसा देकर युवक ने उसके साथ दुष्कर्म किया। लड़की के घर से गायब होने पर उसके पिता ने बिरेझर चौकी में गुम इंसान कायम करवाया। तब पुलिस ने घर से गायब लड़की को ढूंढ निकाला। पीड़िता ने पुलिस के समक्ष कथन पर अपनी आपबीती बताई।

जिस पर पुलिस ने युवक के खिलाफ अपहरण, दुष्कर्म और बालकों का संरक्षण लैगिंक अपराध के तहत जुर्म दर्ज किया। इस मामले को पुलिस ने विशेष न्यायाधीश पाक्सो एक्ट में पेश किया। विशेष न्यायाधीश ने सभी पक्षों को सुनने के बाद खेमेश्वर ध्रुव को दुष्कर्म की धारा एवं पाक्सो एक्ट के तहत दोषी पाते हुए 10 वर्ष के सश्रम कारावास एवं एक हजार रुपये के अर्थदंड से दंडित किया।

बेटी से दुष्कर्म, पिता को आजीवन कारावास

बेटी से दुष्कर्म करने वाले पिता को विशेष न्यायालय के न्यायाधीश ने आजीवन कारावास की सजा सुनाई है। न्यायालयीन सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार जिले के एक ग्राम के 35 वर्षीय पिता ने अपनी नाबालिग बेटी के साथ दुष्कर्म किया। मामले की जानकारी पीड़िता की तबीयत खराब होने पर लगी। तीन दिसंबर को कांकेर में उपचार कराया गया। जांच में पता चला कि लड़की एक माह छह दिन की गर्भवती है।

उन्होंने बालिका गृह की पूर्व अधीक्षिका द्वारा पूछताछ करने पर बताया कि दो नवंबर 2018 से 10 नवंबर 2018 तक बालिकागृह से छुट्टी पर घर आई थी। इस दौरान उसके पिता ने दुष्कर्म किया। पीड़िता जब कक्षा तीसरी में थी तब से उनके पिता दुष्कर्म करता था।

शिकायत पर पुलिस ने आरोपी के खिलाफ धारा 376, 04, 06 पाक्सो के तहत जुर्म दर्ज किया। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर मामले को विशेष न्यायालय में पेश किया। न्यायाधीश ने 25 जुलाई को सभी पक्षों को सुनने के बाद उसे आजीवन कारावास एवं 500 रुपये से दंडित किया है।

Chhattisgarh Weather Updates : बस्तर में हुई झमझम बारिश, अगले 48 घंटे के लिए प्रदेश में यलो अलर्ट जारी

Bilaspur Crime :किसी को पता न चले इसलिए अंधेरे में हो रहा था यह काम