धमतरी (नईदुनिया प्रतिनिधि)। धमतरी फारेसट रेंज के गंगरेल बांध के डूबान क्षेत्र के जंगल में फिर से एक दंतैल हाथी पहुंच गया है। अप्रैल में इस क्षेत्र को छोड़कर 22 सदस्यीय चंदा दल के हाथी आगे बढ़े थे। लगभग महीने भर की रात के बाद डूबान क्षेत्र के 30 से अधिक गांवों के लोगों को फिर से हाथी की समस्या का सामना करना पड़ रहा है।

वन विभाग से प्राप्त जानकारी के अनुसार 13 मई की सुबह गंगरेल बांध के डूबान क्षेत्र के ग्राम कोड़ेगांव बी के कक्ष क्र. 206 में एक दंतैल हाथी देखा गया। हाथी आने के बाद मोंगरागहन सर्किल के कोड़ेगांव आर,मालगांव, अकलाडोंगरी, तिर्रा, सटियारा, चिखली में अलर्ट जारी कर दिया गया है। दल प्रमुख नरेन्द्र नेताम, दल सहायक हर्ष सिन्हा, कमलेश यादव, गोपाल, भक्त प्रहलाद, बलराम, भूषण वन विभाग के अधिकारियों के मार्गदर्शन में हाथी पर नजर रखे हुए हैं।

चंदा दल के हाथियों के दल के जाने के बाद मिली थी राहत

धमतरी रेंज में 22 सदस्यीय चंदा हाथी के दल ने काफी समय तक विचरण किया। इसके बाद यह दल केेरेगांव रेंज के जंगल में चला गया। वर्तमान में चंदा हाथी का दल सिंगपुर रेंज के जंगल में विचरण कर रहा है। नगरी क्षेत्र के जंगल में 25 हाथियों का सिकासेर दल डेरा जमाएं हुए है। वन विभाग के अधिकारी चंदा दल और सिकासेर दल के हाथियों के मिलने की संभावना जता रहे हैं।

वन विभाग की टीम और हाथी मित्र दल के सदस्य कर रहे हैं निगरानी

गरियाबंद जिले के पांडुका क्षेत्र से पहुंचा एक हाथी मगरलोड ब्लाक के फसलों को नुकसान पहुंचा रहा है। डीएफओ मयंक पांडे ने बताया कि जिले के सामान्य वन मंडल के जिन जंगलों में हाथी है। वहां वन विभाग की टीम और हाथी मित्र दल के सदस्य निगरानी कर रहे हैं। लोगों से जंगल न जाने की अपील की जा रही है।

Posted By: Ravindra Thengdi

NaiDunia Local
NaiDunia Local