धमतरी। नईदुनिया न्यूज

बसंत पंचमी पर 10 फरवरी रविवार को विभिन्न स्थानों पर अरण्य पेड़ लगाकर विधिवत पूजा-अर्चना की जायेगी। अंडा पेड़ लगाने के साथ ही होली आगमन का संदेश मिल गया है। इसी पेड़ पर लकडिय़ां इकट्ठा कर होली के मौके पर होलिका दहन करने की परंपरा है।

रविवार को सुबह से शहर के विभिन्न मोहल्लों और गांवों में अरण्य पेड़ लगाने का सिलसिला शुरू हो गया था। युवाओं और बच्चों की टोली ने परंपरानुसार अंडा पेड़ लाकर मोहल्लों के होलिका दहन के स्थलों पर लगाया। विधिवत पूजा-अर्चना कर दीपक जलाया गया। पहले के जमाने में अंडा पेड़ लगने के साथ ही नगाड़े बजने लगते थे और फाग गीत सुनाई देते थे। लेकिन यह सब गुजरे जमाने की बात हो गई है। अब होली के एक-दो दिन पहले ही नगाड़े और फाग गीत सुनाई देते हैं।