धमतरी (नईदुनिया प्रतिनिधि)। स्वास्थ्य विभाग में कार्यरत सांकरा की मनीषा साहू कोरोना संक्रमण काल में लगे लाकडाउन के समय जैन साध्वियों का प्रवचन सुनकर इतनी प्रभावित हुई कि अब उसका मन ही बदल गया। दीक्षा लेकर अब वे साध्वी बनेंगी। 28 नवंबर को दीक्षा लेंगी।

नगरी ब्लाक के ग्राम पंचायत सांकरा निवासी राइस मिलर मिथलेश साहू की पुत्री मनीषा साहू 29 वर्ष वर्तमान में स्वास्थ्य विभाग से जुड़ कर काम कर रही थी। कोरोना संक्रमण के समय लाकडाउन में जैन साध्वियों से उनकी मुलाकात हुई। उनसे प्रवचन सुनती रही, ऐसे में उनके मन में बदला और वैराग्य का भाव उत्पन्न हुआ। उन्होंने जैन साध्वी बनने मन बना लिया। इसके लिए 28 नवंबर 2022 को वह दीक्षा लेंगी। उल्लेखनीय है कि मनीषा साहू दो बहनें हैं। अंचल में साहू समाज की लड़की पहली बार जैन साध्वी बनेगी। यह जैन समाज और साहू समाज के लिए बहुत ही हर्ष की बात है।

यह सौभाग्य की बात है

जैन श्री संघ के अध्यक्ष उत्तम गोलछा ने कहा कि यह सौभाग्य की बात है कि एक साहू समाज की लड़की जो डाक्टर बनने के लिए रायपुर गई थी, वहां जैन दीक्षा ग्रहण करने वाली है। यह नगरी व सांकरा क्षेत्र के लिए गौरव की बात है। गुरुवार को जैन साध्वी बनने जा रही मनीषा साहू और मुस्कान बाघमार के लिए भव्य शोभायात्रा निकाली गई।

इस दौरान महावीर स्वामी के जयकारा के साथ ओसवाल भवन से नगर के मुख्य मार्ग में भ्रमण कराया गया, जहां जगह-जगह दीक्षार्थीयों का स्वागत सम्मान किया गया। साथ ही जैन युवा संघ के लोग बैंड की धुन पर खुशी से झूमते रहे। महिला संघ द्वारा गुरु भक्ति गाते हुए महावीर स्वामी के जयकारे के साथ शोभायात्रा में चल रही थी।शोभायात्रा वापस ओसवाल भवन में आकर समाप्त हुई।

शोभायात्रा के दौरान जैन श्री संघ के अध्यक्ष उत्तम गोलछा, सचिव मोहन नाहटा, श्रांत क्रांति संघ के अध्यक्ष मनोज छाजेड़, सचिव अनिल छाजेड़, मूर्ति पूजा संघ अध्यक्ष नितिन भंसाली, संघ के वरिष्ठ सदस्य भोमराज ढेलड़िया, खिवराज गोलछा, ज्ञानचंद गोलछा, मोहन भंसाली, राजकुमार भंसाली, कुशलचंद, अजय नाहटा, राजेंद्र गोलछा, नरेश नाहटा, अशोक संचेती समेत बालिका मंडल, महिला मंडल एवं सदस्य मौजूद थे।

Posted By: Pramod Sahu

NaiDunia Local
NaiDunia Local
  • Font Size
  • Close