धमतरी, नईदुनिया प्रतिनिधि। दिमाग से कमजोर एक महिला ने घर पर गहरी नींद में सोये पुत्र के ऊपर मिट्टी तेल उड़ेलकर आग लगा दी। पुत्र गंभीर रूप से झुलस गया है। पड़ोसी की मदद से उसे जिला अस्पताल में उपचार के लिए भर्ती कराया गया है।

जिला अस्पताल स्थित पुलिस सहायता केंद्र व ग्रामीणों से मिली जानकारी के अनुसार ग्राम कंडेल के आबादीपारा निवासी गंगा बाई सिन्हा की दिमागी हालत पिछले कुछ सालों से ठीक नहीं है। सात सितंबर शनिवार की रात 12 बजे गंगाबाई सिन्हा ने अपने घर में गहरी नींद में सोये पुत्र संतोष सिन्हा (32) पुत्र स्व. उमेन्द्र सिन्हा के ऊपर मिट्टी तेल उड़ेलकर आग लगा दी।

नींद खुली तो किसी तरह उसने खुद के शरीर पर पानी डालकर आग बुझाई और पड़ोसी राजेश सिन्हा को घटना की जानकारी दी। तब आधी रात पड़ोसी राजेश सिन्हा ने संजीवनी एंबुलेंस 108 की मदद से उन्हें उपचार के लिए जिला अस्पताल के बर्न कक्ष में भर्ती कराया गया, जहां उसका उपचार जारी है। युवक का शरीर 70 प्रतिशत जल चुका है।

बताया जा रहा है कि दस साल पहले गंगा बाई का बड़ा पुत्र कहीं चला गया। वह आज तक नहीं लौटा है। संतोष सिन्हा छोटा पुत्र है। वह अपनी मां के साथ रहता है। एक बेटी का विवाह हो चुका है। घटना के बाद पुलिस मामले की जांच में जुट गई है।

अंतागढ़ टेपकांड : पांच साल बाद फिर छत्तीसगढ़ की राजनीति में फ‍िर आया उबाल

डॉक्टरों और मेडिकल स्टाफ की सुरक्षा के लिए बनेगा विशेष कानून

Posted By: Lav Gadkari

fantasy cricket
fantasy cricket