Dhamtari News: धमतरी। बारिश के मौसम में सड़कों की हालत बद से बदतर हो चली है। जगह-जगह बड़े-बड़े गड्ढे, सड़कों में भरा पानी और सड़कों पर बैठे मवेशी आम नजारे हैं। सड़कों की सुध लेने की ना तो जिला प्रशासन को कोई रुचि है और न ही शहर में कथित रूप से समाज सेवा के क्षेत्र में कार्य कर रही समाजसेवी संस्थाओं को इसमें रुचि है। सड़कों की उपेक्षा से आए दिन लोग घायल हो रहे हैं। जागरूक नागरिकों का कहना है कि सड़कों की मरम्मत की जानी चाहिए, ताकि लोगों को आवाजाही में किसी तरह की दिक्कतों का सामना न करना पड़े।

धमतरी शहर से होकर गुजरी राष्ट्रीय राजमार्ग 30 की हालत कई स्थानों पर खराब हो चुकी है। सड़क की लंबे समय से मरम्मत न होने के कारण स्थिति और खराब होती जा रही है। बस्तर रोड में श्यामतराई से लेकर ग्राम अर्जुनी मोड़ तक लगभग आठ किलोमीटर की दूरी में कई स्थानों पर बड़े-बड़े गड्ढे हो गए हैं, जिनमें पानी भरा हो तो लोगों को पता ही नहीं चलता कि सड़क में गड्ढे हो गए हैं।

ऐसी स्थिति में जब बरसाती पानी के ऊपर से कोई दपहिया वाहन चालक गुजरता है, तो उसका गिरना स्वभाविक है। शहर में इस तरह की घटनाएं आए दिन हो रही है। राष्ट्रीय राजमार्ग 30 में काली मंदिर के सामने सड़क में बड़े-बड़े गड्ढे हो गए हैं। इसी तरह अन्य स्थानों पर आधे घंटे की बारिश में ही सड़कों में पानी जमा हो जाता है। इसे सूखने में कम से कम पांच से छह दिन का समय लगता है।

शहर के जागरूक नागरिक मोहनलाल साहू, दिलीप पटेल का कहना है कि सड़कों की बदहाल स्थिति को देखते हुए शहर के जनप्रतिनिधि इसे नजरअंदाज कर देते हैं। मरम्मत की दिशा में उन्हें ध्यान देना चाहिए। मालूम हो कि भिलाई में कुछ दिन पूर्व एक वाहन चालक परिवार समेत सड़क के गड्ढे में गिर गया, जिससे परिवार के तीन सदस्य अकाल काल के गाल में समा गए।

लोगों में जागरूकता की कमी

लोगों में जागरूकता की कमी भी सड़क को बिगाड़ने में काफी हद तक जिम्मेदार है। जागरूकता की कमी के कारण सड़कों की हालत बद से बदतर होती जा रही है। लोक निर्माण विभाग द्वारा बनाई गई पक्की सड़क के दोनों और लगभग तीन फीट सोल्डर (पटरी) छोड़ा जाता है, ताकि बारिश का पानी सड़क से नीचे बहकर निकल जाए।

सड़क किनारे रहने वाले कुछ लोग और दुकानदार अपने स्थान के सामने का हिस्सा पाटते हुए पक्की सड़क की पटरी तक को पाट देते हैं। इससे घर से निकलने वाला पानी सीधे सड़क में जमा होने लगता है, जिसके कारण सड़क खराब होने लगती है।

शहर में इन स्थानों पर स्थिति ज्यादा खराब

राष्ट्रीय राजमार्ग 30 में काली मंदिर के पास लगभग 300 मीटर की दूरी की सड़क खराब हो गई है। इसी तरह रत्नाबांधा चौक के पास सड़क में बड़े-बड़े गड्ढे हो गए हैं। सिहावा चौक शांति कालोनी फायर ब्रिगेड आफिस के पास हालत यह है कि सड़क का पानी आसपास की दुकानों तक पहुंचने लगा है।

शोपीस नालियां पट चुकी हैं। गोकुलपुर वार्ड में फव्वारा चौक के पास सड़क खराब है। यहां पर भी सड़क में जगह-जगह गड्ढे हो गए हैं। दानी टोला चौक के पास भी सड़क खराब है। इसी तरह अन्य स्थानों पर सड़कों की हालत बद से बदतर हो चली है।

सड़क पाटने वालों पर की जाएगी कार्रवाई

सड़कों की मरम्मत के लिए अलग से फंड नहीं आता। पूर्व निर्धारित फंड की सहायता से ही सड़क की मरम्मत करते हैं। आने वाले दिनों में अब सड़क किनारे को पाटने वाले लोगों पर कार्रवाई की जाएगी।

-आरआर ध्रुव, कार्यपालन अभियंता, लोक निर्माण विभाग

Posted By: Nai Dunia News Network

NaiDunia Local
NaiDunia Local